शहीद-ए-आजम भगत सिंह का 112वां जन्मदिवस धूम-धाम से मनाया गया।
गाजियाबाद । जनपद गाजियाबाद में दिनांक 28 सितम्बर 2019, दिन शनिवार सुबह 8:00 बजे  शहीद भगतसिंह की मूर्ति पर माल्पयार्पण कर जन्मदिवस मनाया गया। इस अवसर पर  शहीद-ए-आजम भगत सिंह जी के जीवन पर प्रकाश डाला गया । उन्होंने बताया कि शहीदे-ए-आजम का जन्म दिन भगत सिंह का परिवार 28 सितम्बर को मनाते है। भगत सिंह का पूरा परिवार क्रान्तिकारी था। उन्होंने जेल में 116 दिन की भूख हड़ताल की भगतसिंह की फाँसी को रोकने के लिए पूरी दुनिया के लोगों ने कोशिश की ब्रिटिश सांसदो तक ने फाँसी रोकने की कोशिश की। लाखों लोगों ने इस बारे में पत्र लिखे जिसमे से कुछ तो खून से लिखे गये थे। भगत सिंह को महज 23 साल 5 महीने 25 दिन की आयु में 23 मार्च 1931 की शाम 7ः33 उन्हें फाँसी दी गई।  देशभक्ति का जब भी नाम आता है  सबसे पहलें शहीद भगत जी का नाम जुबां पर आता है । लाहौर षडयंत्र केस में राजगुरू, सुखदेव के साथ भगत सिंह को भी फांसी की सजा सुनायी गयी।
इस अवसर पर पंडित अशोक भारतीय प्रवीण बत्रा संदीप त्यागी रस्म संजय गोयल प्रमोद गुप्ता राजेश वर्मा वीरेंद्र कंडेरे मोहित अरोड़ा कपिल गर्ग आदि मुख्य रूप से शामिल रहे ।

Share To:

Post A Comment: