रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार के साथ में रुड़की से इमरान अहमद की रिपोर्ट


मां दुर्गा इस बार सर्वार्थसिद्धि और अमृत सिद्धि योग में हाथी पर सवार होकर रविवार को हमारे घर पधारेंगी। फिर 9 दिन बाद घोड़े पर विदा होंगी। शाारदीय नवरात्रि का नौ दिवसीय पर्व आज 29 सितंबर 2019 से शुरू होगा जोकि 7 अक्टूबर तक चलेगा।

साल में आने वाली 4 नवरात्रियों में से इस नवरात्रि का सबसे अधिक महत्व माना गया है। यह व्रत उपवास, आदिशक्ति माँ जगदम्बा की पूजा-अर्चना, जप और ध्यान का पर्व है। देवी भागवत के अनुसार विद्या, धन एवं पुत्र की कामना करने वालों को नवरात्र व्रत जरूर रखना चाहिए।

हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार यह नवरात्रि शरद ऋतु में अश्विन शुक्‍ल पक्ष से शुरू होती हैं और पूरे नौ दिनों तक चलती हैं। मां दुर्गा इस बार सर्वार्थसिद्धि और अमृत सिद्धि योग में हाथी पर सवार होकर रविवार को हमारे घर पधारेंगी।

स्थानीय मंदिर में पूजा पाठ करने वाले पंडित बताते हैं कि आश्विन शुक्ल पक्ष की प्रतिप्रदा से नवरात्रि की शुरुआत हो रही है। इसी दिन कलश स्थापना के साथ नौ दिन की दुर्गा पूजा शुरू होगी।

कलश स्थापना के लिए शुभ मुहूर्त इस प्रकार है:
चंचल – प्रातः 7.48 से 9.18 तक
लाभ – प्रातः 9.18 से 10.47 तक
अमृत – प्रातः 10.47 से 12.17 तक
शुभ – दोपहर 13.47 से 15.16 तक
शाम को 18.15 से 19.46 तक शुभ है
Share To:

Post A Comment: