मोदीनगर कलछीना ( साजिद हसन ) । जनपद गाजियाबाद के तहसील मोदीनगर के कलछीना स्थित मदरसा गुलजार ए कुरानिया कलछीना में दीनी दावती इजलास से मौलाना कलीम सिद्दीकी ने दावती खिताब किया । 
जामिया इस्लामिया अरबिया गुलजार ए कुरानिया कलछीना में दावती कैंप की आखिरी नशिस्त पर हजरत मौलाना कलीम सिद्दीकी साहब ने किताब में फरमाया कि हिंदुस्तान में अपनी सलामती के लिए जरूरी है कि हर मुसलमान फरीजा-ए-दावत से जुड़े । इस उम्मत के हर फर्द की जिम्मेदारी है कि कारेन्दावत को अपना धंधा समझकर करें कि यह मेरा काम है । हजरत ने फरमाया कि हिंदुस्तान मोहब्बत भरा मुल्क है अपने मोहसीन को यह कौम देवता समझ लेती है । अल्लाह के नबी हजरत सल्लल्लाहु अलेही वसल्लम ने फरमाया मुझे हिंदुस्तान की मिट्टी से मोहब्बत की खुशबू आती है जो मोहब्बत के बीज बोएगा उसकी फसल उगेगी जो नफरत की खेती करते हैं उनकी खेती उजड़ जाएगी ।
नाजिम इजलास मौलाना मोहम्मद अहमद कासमी ने कहा कि हर महीने की कमरी तारीख के हिसाब से महीने की तीसरी जुमेरात में बाद नमाज मगरिब दावती मशवरा होगा । जलसे में खिताब जनाब अब्दुल रशीद दोस्तम व मौलाना मोहम्मद उमर साहब ने किया । हजरत मौलाना कलीम सिद्दीकी सदरे जलसा की दुआ पर जलसे का इखतताम हुआ । जलसे में आसपास से आए सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे और मौलाना कलीम के बयान को ध्यान से सुना
Share To:

Post A Comment: