मोदीनगर । जनपद गाजियाबाद के मोदीनगर में स्थित सीकरी पेट्रोल पंप के नाम से जाना जाने वाला इंडियन ऑयल का पेट्रोल पंप है । जिसके कर्मचारी भारतीय मुद्रा को लेने से मना करते हैं । वह कहते हैं की हम यह 10 के सिक्के नहीं लेंगे। आज दिनांक 18 सितंबर 2019 को सुबह लगभग 7:30 बजे मोहनलाल गुप्ता इंडियन ऑयल सीकरी पेट्रोल पंप पर अपनी बाइक में पेट्रोल डलवाने के लिए गए तो वहां पर उपस्थित मोनू नाम के कर्मचारी ने 10 - 10 के सिक्के लेने से मना कर दिया । पीड़ित मोहनलाल गुप्ता ने जब यह कहा कि भैया मेरे पास यही है आप पेट्रोल डाल दीजिए लेकिन कर्मचारी मोनू ने एक न सुनी और और मोहनलाल गुप्ता के साथ अभद्रता से पेश आया कहा कि जो उखाड़ना है उखाड़ ले मैं यह 10 के सिक्के नहीं लूंगा । तब पीड़ित ने कहा कि मैं सो नंबर पर कॉल करकर पुलिस को अवगत करा रहा हूं तो मोनू ने कहां की पुलिस मेरा क्या उखाड़ लेगी बुला लो पुलिस को देख लेंगे । तब पीड़ित ने सो नंबर पर कॉल किया कॉल करने के बाद पीड़ित ने अपनी समस्या से 100 नंबर वालों को अवगत कराया । जिस पर तुरंत एक्शन ले कर पुलिस मौके पर पहुंची और पुलिस के कहने पर मोनू ने पीड़ित की बाइक में पेट्रोल डाला । इंडियन ऑयल के इसी पेट्रोल पंप पर यह समस्या पहले भी कई बार आ चुकी है । आए दिन यहां पर कम तेल देने को लेकर भी मामले होते रहते हैं । कुछ महीने पहले भी एक ऐसी ही समस्या इसी पेट्रोल पंप पर सामने आई थी जिसमें पेट्रोल पंप के मालिक यशपाल गुप्ता से  बात की तब यशपाल गुप्ता ने अपने कर्मचारियों को डांट लगा कर मामला शांत करा दिया था । लेकिन अब यह समझ में नहीं आ रहा की हमारी भारतीय मुद्रा जोकि संपूर्ण भारत में कहीं भी चल सकती है जिसे ना लेने का कोई भी प्रावधान नहीं है फिर यह पेट्रोल पंप वाले क्यों पब्लिक को परेशान करते हैं ? आखिर पब्लिक के पास भी तो यह सिक्के कहीं से तो आते हैं तो क्या पब्लिक इन सिक्कों को अपने पास रखें यह भारतीय करेंसी होने के साथ-साथ हम लोगों का लेन-देन और व्यापार भी इसी से चलता है । भारतीय मुद्रा न लेने पर भारतीय संविधान में दंड का प्रावधान है ।
Share To:

Post A Comment: