रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार

                   राज्य सरकार द्वारा कुछ मैदानी क्षेत्रों को जैसे सहारनपुर, मुरादाबाद को उत्तराखंड में मिलाए जाने के प्रयास पर राज्य सरकार की कड़ी निंदा की है ,साथ में चेतावनी भी दी कि सरकार द्वारा अगर यह कदम उठाया गया तो राज्य आंदोलनकारी, राज्य की जनता इसका सड़कों पर उतर कर विरोध करेगी ।
उनका कहना है कि उत्तराखंड राज्य अभी तक अपनी मूलभूत सुविधाओं से कोसों दूर है उस पर और मैदानी क्षेत्रों को जोड़कर इस राज्य को और गर्त में डाले जाने का प्रयास किया जा रहा है ।मैदानी क्षेत्रों को जोड़ने से भ्रष्टाचार और बेरोजगारी उत्तराखंड में और बढ़ जाएगी। आज की बैठक में मुख्य रूप से वेद प्रकाश शर्मा, बलबीर सिंह नेगी ,राजेश्वरी चौहान ,युद्धवीर सिंह चौहान, मनीषा वर्मा , इंदू सिंह , पूर्णिमा बडोनी,  उर्मिला डबराल, महावीर सिंह रावत आदि अनेक आंदोलनकारी मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: