मेरठ की क्रांतिकारी धरती से 1857 के बाद फिर एक और नई क्रांति की शुरुआत करने वाली जनसंख्या कानून पदयात्रा का शनिवार को विधायक मंजू सिवाच एवं डा. देवेन्द्र सिवाच के नेतृत्व मे सुबह 28 स्थानों पर हुआ स्वागत।

मोदीनगर । मुरादनगर और दुहाई सहित गाजियाबाद के क्लाउड 9, मोहन नगर, पर अनेक स्थानों पर स्वागत के साथ साहिबाबाद के नंबरदार फार्म पर रात्रि पड़ाव ।
जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन ने देश की 31 समस्याओं और उनके समाधान के साथ सैकड़ों ट्रैक्टर, सैकड़ों कारों और हजारों लोगों के काफिले के साथ मेरठ से दिल्ली के लिए पदयात्रा का स्वागत विधायक अजीतपाल त्यागी ने मुरादनगर नहर पर तथा सुनील शर्मा ने गाजियाबाद मे किया जोरदार  स्वागत ।
पदयात्रा में 500 कारें, 400 ट्रैक्टर और लगभग 5000 लोग मेरठ से दिल्ली के लिए शामिल रहे । 
मेरठ की क्रांतिकारी धरती से 1857 के पश्चात एक और क्रांति की शुरुआत करते हुए जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के द्वारा जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर एक रैली मेरठ से दिल्ली को रवाना हुई थी।
 आज यह काफिला दिल्ली रोड, तिवडा रोड, हापुड रोड, सीकरी खुर्द रोड, सीकरी कलां, आदि पर सैकड़ो गावों से होकर गुजरा जहां पर गांव के हजारो लोग मौजूद रहे । यात्रा साहिबाबाद रात्रि विश्राम के लिए रुकी ।
शनिवार 9:30 पर विधायक मोदीनगर डॉक्टर मंजू सिवाच एवं संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल चौधरी, राष्ट्रीय संयोजिका ममता सहगल द्वारा कादरबाद स्थित पड़ाव से चलते समय  जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर उद्बोधन दिया और उसके पश्चात तिरंगा लहरा कर यात्रा को दिल्ली की ओर रवाना किया ।
 कल केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पदयात्रा में साथ चले और उनके साथ साथ हजारों मेरठ और आसपास के जिलों के लोग एक साथ जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग को लेकर दिल्ली की ओर चले ।
सभी 31 रथों  के ऊपर विभिन्न समस्याओं के नाम जैसे पर्यावरण, प्रदूषण, अपराध, गरीबी, बेरोजगारी, घटती जमीन, धरती कृषि आय, चरमराती अर्थव्यवस्था, गिरता भूजल स्तर कुपोषण, भुखमरी, अशिक्षा, स्वास्थ्य समस्याओं को लेकर 31  बनाए गए
 जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कहना था कि यह समस्या है हम दिल्ली लेकर जा रहे हैं लेकिन इसके साथ-साथ इसका समाधान लेकर भी हमारे सभी लोग दिल्ली की ओर जा रहे हैं । समाधान हेतु जनसंख्या नियंत्रण कानून आज देश की प्रथम आवश्यकता है और यह सभी संकटों का हल है । इसके साथ-साथ कानून के प्रारूप ड्राफ्ट भी जंतर मंतर की ओर रवाना हुए जो कि वह केंद्रीय कानून मंत्री को सौंपा जाएगा।
मोदीनगर, मुरादनगर क्षेत्र एवं उनसे गांव वालों ने शुरू से लेकर अंत तक न केवल समर्थन की बात कही बल्कि जनसंख्या नियंत्रण कानून बनने तक लगातार इस विषय पर काम करने का सभी लोगों से संकल्प लिया और आगे भी सभी लोगों से कार्य कराने को देशभर में इस विषय को फैलाने का संकल्प लिया।
मोदीनगर की विधायक मंजू सिवाच, डॉक्टर सुशील सूरी, डॉक्टर जेबी चिकारा, रविंद्र गुर्जर, विनोद भाटी, रोहित जाखड़ ने यात्रा का संयोजन किया । इन सभी का कहना था कि यह सभी समस्याओं को रथ पर बैठा कर वह केंद्र के पास लेकर जा रहे हैं जहां से इस समस्या के समाधान को भी साथ लेकर जा रहे हैं और उस समस्या के समाधान यानी जनसंख्या नियंत्रण कानून को वहां से लेकर ही लौटेंगे ।
 सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र यात्रा का 210 फीट लंबा और 10 फीट ऊंचा तिरंगा झंडा जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की टीम के लोग टी-शर्ट पहनकर भारत माता की जय के नारे लगाते हुए सबसे आगे लेकर चल रहे हैं।
 उसके पीछे स्वच्छता का विशेष ध्यान रखते हुए सभी रथो के पीछे कूड़ेदान रखे गए  और उनके पीछे स्वच्छतागराही चले और उन पर लिखा गया स्वच्छ भारत मिशन। इस यात्रा ने स्वच्छता को लेकर एक अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया।
सभी लोग इस यात्रा में उसके बाद यात्रा को 31 अलग-अलग सेगमेंट में बांटा गया जिसमें सबसे आगे तिरंगा झंडा उसके बाद रथ उसके पश्चात लोग उसके पश्चात करें उसके पश्चात ट्रैक्टर फिर उसके बाद इस प्रकार से 31 सेगमेंट में यात्रा बांटी गई।
संस्था के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मनुपाल बंसल ने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर जनसंख्या समाधान फाउंडेशन पिछले 6 सालों से लगातार काम कर रहा है और देश के 350 जिलों में इस विषय पर काम कर रही है 11 जुलाई जनसंख्या दिवस पर संस्था ने 348 स्थानों पर जिला मुख्यालय पर धरना दिया भारत के प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।
मेरठ से पदयात्रा में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सर्वेश शर्मा, प्रमोद शर्मा, देवेन्द्र चौधरी,कविता सिरोही, रामबाबू धामा, गब्बर सिंह चौहान , राजस्थान से नारायण राम चौधरी देश के कोने कोने से लोगों ने हिस्सा लिया ।
Share To:

Post A Comment: