दयावती मोदी पब्लिक स्कूल में कर्मचारियों व शिक्षकों का शोषण 
नहीं मिल रहा है छठे व सातवें वेतन आयोग के तहत लाभ 
मोदीनगर । गत दिवस राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक उत्तर प्रदेश के स्थानीय कैम्प कार्यालय पर हुई बैठक में इंटक के प्रदेश प्रवक्ता सुरेश शर्मा ने कहा कि दयावती मोदी पब्लिक स्कूल में कर्मचारियों व शिक्षकों को अभी  फिलहाल सातवें वेतन आयोग की बात तो छोड़िए अभी तक छठा वेतन आयोग के तहत वेतन बढोत्तरी नहीं की है । जब कि स्कूल के प्रबंधक क्रमशः जनवरी 2006 और जनवरी 2016 से लागू करने के लिए बाध्य हैं आयोग के मुताबिक कर्मचारियों व शिक्षकों को संशोधित भत्ता और अन्य लाभ मिलने चाहिए । मा0 उच्च न्यायालय के अनुसार कर्मचारियों व शिक्षकों के वेतन का स्कूल फीस से कोई लेना देना नहीं है । स्कूल में छठा वेतन आयोग के तहत वेतन बढोत्तरी न किये जाने पर शिक्षकों व कर्मचारियों में अंसतोष एवं आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि जब तक स्कूल में छठा व सातवें वेतन आयोग के तहत सुविधा नहीं मिलेगी तब तक संघर्ष जारी रहेगा ।
इंटक के प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि दयावती मोदी पब्लिक स्कूल कर्मचारी यूनियन ने स्कूल में हो रहे उत्पीड़न व शोषण के विरुद्ध अपनी नो सूत्रीय मांगो को लेकर प्रबंधकों को ज्ञापन दिया हुआ है, लेकिन अभी तक स्कूल प्रबंधकों ने कोई सुनवाई नहीं की है ।
यूनियन के अध्यक्ष जयपाल शर्मा ने कहा कि स्कूल प्रबंधकों ने शीघ्र ही हमारी मांगो को नहीं माना गया तो स्कूल प्रांगण में पहले चरण में धरना, दूसरे चरण में क्रमिक भूख हड़ताल, तीसरे चरण में आमरण अनशन फिर भी हमारी मांगो को नहीं माना गया तो आत्मदाह करने से भी पीछे नहीं रहूँगा । जब तक स्कूल के प्रबंधक हमारी नो सूत्रीय मांगो को नहीं मानते तब तक आनदोलन जारी रहेगा उन्होंने कहा कि स्कूल में लगभग तीन हजार बच्चे शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं इसके अतिरिक्त शिक्षक, कर्मचारी व स्कूल स्टाफ है, स्कूल में स्वास्थ्य संबंधी व्यवस्था तक नहीं है ।
इस अवसर पर शहर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राकेश गोयल, राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक युवा के गाजियाबाद प्रभारी व प्रदेश महासचिव आशीष शर्मा, दयावती मोदी पब्लिक कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष जयपाल शर्मा मुख्य रूप से उपस्थित थे।
Share To:

Post A Comment: