रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार के साथ में रुड़की से इरफान अहमद की रिपोर्ट
मौ० 19410563684


आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का सरगना बगदादी अपनी मौत के समय महज 48 साल का था. लेकिन इतने कम समय में उसने इराक और सीरिया में बर्बरता की जो मध्ययुगीन करतूतें पेश की थी, इसे देख लोग सहम गए थे. नारंगी सूट पहने बगदादी के आतंकियों ने कैमरे पर चाकू से लोगों का गला रेता और इसका वीडियो बनाकर पूरी दुनिया में भेज दिया. इस वीडियो को देखकर लोगों को मध्ययुगीन लुटेरों की बर्बरता याद आ गई.

जब कुत्तों से घिर गया आतंक का आका
आत्मघाती जैकेट उड़ाकर दी जान
तीन बेटों संग मारा गया बगदादी
आईएसआईएस का कथित खलीफा अबु अल बकर बगदादी शनिवार रात को अमेरिकी सेना के ऑपरेशन में मारा गया. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने खुद इसकी घोषणा की. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का सरगना अपनी मौत के समय महज 48 साल का था. लेकिन इतने कम समय में उसने इराक और सीरिया में बर्बरता की जो मध्ययुगीन करतूत पेश की थी, इसे देख लोग सहम गए थे. नारंगी सूट पहने बगदादी के आतंकियों ने कैमरे पर लाइव चाकू से लोगों का गला रेता और इसका वीडियो बनाकर पूरी दुनिया में वायरल कर दिया. इस वीडियो को देखकर लोगों को मध्ययुगीन लुटेरों की बर्बरता याद आ गई.

राष्ट्रपति ट्रंप ने बताया, कुत्तों ने दौड़ाया

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी यूएस स्पेशल ऑपरेशन फोर्सेज के कमाडों ने शनिवार रात को सीरिया के इडलिब प्रांत के एक गांव बारिशा में बगदादी को घेर लिया. बगदादी आत्मघाती जैकेट पहनकर सुरंग में घुसा और दौड़ने लगा. इस दौरान उसने अपने तीन बच्चों को ढाल बनाकर रखा था. राष्ट्रपति ट्रंप के मुताबिक बगदादी अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाने के लिए बगदादी किसी भी वक्त अपने आत्मघाटी जैकेट में विस्फोट कर सकता था. इसलिए उसके पीछे यूएस स्पेशल ऑपरेशन फोर्सेज के ट्रेंड कुत्तों को लगाया गया. ये खूंखार कुत्ते काफी देर तक बगदादी को दौड़ाते रहे. आखिरकार एक जगह सुरंग खत्म हो गई.

पढ़ें: ऑपरेशन में मारी गईं बगदादी की दो बीवियां

आगे बंद सुरंग, पीछे खूंखार कुत्ते

अब बगदादी के पीछे दो ही रास्ता था, ये दोनों ही रास्ते बगदादी को जहन्नुम की ओर लेकर जाते थे. अगर बगदादी सुरंग की दीवार के पास रुकजाता तो अमेरिकी कमांडों की गोलियां उसे छलनी करने को तैयार थी, और अगर वो वापस पीछे आता तो अमेरिकी सैनिकों के 'शिकारी' कुत्ते उस पर टूट पड़ते. शातिर बगदादी ने एक तीसरी ही चाल चली. उसने आनन-फानन में अपने तीनों बच्चों को अपने पास बुलाया और अपने आत्मघाती जैकेट से ब्लास्ट कर लिया. जोर का धमाका हुआ और पूरी सुरंग ढह गई. आतंकी बगदादी अपने तीन बेटों के साथ मलबे में जमींदोज हो गया. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि जब हमारी सेना के कुत्ते उसका पीछा कर रहे थे उस वक्त वो रो रहा था, चिल्ला रहा था और गिड़गिड़ा रहा था.

कुत्ते की मौत मरा बगदादी

इस ऑपरेशन के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अपनी जिंदगी में खौफ का पर्याय बन चुका बगदादी आखिरी वक्त में कुत्तों की मौत मरा, वो बेहद डरपोक था. ट्रंप ने कहा कि इस पूरे ऑपरेशन में अमेरिकी कमांडो को कोई नुकसान नहीं हुआ, हां उनका एक कुत्ता जरूर घायल हुआ था, उसे इलाज के लिए वापस अमेरिका लाया गया है. ट्रंप ने इस कुत्ते की तारीफ की है.

सेना में शामिल होने से पहले कड़ी ट्रेनिंग

बता दें कि अमेरिकी स्पेशल फोर्सेज में शामिल किये जाने से पहले अमेरिकी कमांडो कुत्तों को कड़ी ट्रेनिंग देती है. अमेरीका की नेवी सील, डेल्टा फोर्स में एक खास नस्ल के कुत्ते ही शामिल किये जाते हैं. अमेरिकी नेवी सील में जिन कुत्तों को शामिल किया जाता है वे बेल्जियन मेलिनियोस के होते हैं. लंबी प्रक्रिया के बाद सिर्फ एक प्रतिशत कुत्ते ही ट्रेनिंग के लिए जाते हैं.

अमेरिकी सेना के ट्रेंड कुत्ते
एयरक्राफ्ट से कूदने का हुनर

अमेरिकी सेना की मूवमेंट हेलिकॉप्टर या एयरक्राफ्ट से होती है, इसलिए इन कुत्तों को हवाई जहाज में बैठने, उड़ते हुए हवाई जहाज से कूदने की ट्रेनिंग भी दी जाती है. इन कुत्तों को गन साउंड की ट्रेनिंग दी जाती है. ताकि युद्ध क्षेत्र में फायरिंग की आवाज सुनकर कुत्ते घबराएं नहीं. हैंडलर के साथ इन्हें पूरी तरह से घुलने-मिलने को सिखाया जाता है. सेना में शामिल किये जाने से पहले इन कुत्तों को डमी मिशन में ले जाया जाता है, जहां पर इनसे टास्क पूरा करने की उम्मीद की जाती है. ट्रेनिंग में सफल पारी के बाद ही इन्हें सेना में शामिल किया जाता है.
Share To:

Post A Comment: