हिन्दू-मुस्लिमों ने मिलकर रखी मंदिर की नींव

  एक तरफ जहां देश में जातिवाद को लेकर लोगों के अलग अलग विचार हैं। वहीं कुछ राजनीतिक पार्टियों पर भी जातिवाद के नाम पर नफरत फैलाने के आरोप लगते रहे हैं वहीं
दनकौर विकासखण्ड के खेरली भाव गांव में फिर हिन्दू मुस्लिम एकता का संदेश देने वाली मिशाल कायम हुई है। यहां सामाजिक सद्भावना का संदेश देने के उद्देश्य से एक देवी मंदिर की नींव हिन्दू और मुस्लिमों समाज के लोगों ने मिलकर रखी है। दरअसल खेरली भाव गांव में हिन्दू और मुस्लिम समुदाय के लोगों में भारी प्यार है जिसके चलते सभी एक दूसरे के घर खाना खाते हुए भी देखे जाते हैं। सोमवार को जब मुस्लिम समुदाय के लोगों को मन्दिर की नींव रखे जाने की जानकारी हुई तो दर्जनों की संख्या में मुस्लिम भी उक्त स्थान पर पहूँच गए। इस दौरान मन्त्रों का उच्चारण शुरू हुआ और महंत बाबा पूनम गिरी, राकेश कुमार व विकास चौधरी आदि लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मुस्लिम समाज के नसरुद्दीन, हनीफ खान, तौफीक सोलंकी आदि लोगों ने मंदिर की नींव को रखा। करीब चार वर्ष पहले भी खेरली भाव गांव में ही मन्दिर के महंत बाबा महेंद्र गिरी द्वारा वैदिक मंत्रों का उच्चारण करते हुए एक मस्जिद की नींव को रखा गया था जिसकी चर्चा दूर दूर तक हुई थी। सोमवार को मन्दिर की नींव रखे जाने के दौरान धर्मी खटाना, नरेंद्र अधिवक्ता , नसरुद्दीन प्रधान, राम सिंह, राकेश कुमार, मूलचंद सोलंकी, विकाश चौधरी, नरेंद्र ठाकुर, अमर सिंह, प्रताप सिंह, मदन, आस मोहम्मद, तौफीक सोलंकी, टोडी सिंह, श्यामा, बिनोद, चेतराम, जगदीश व हनीफ खान समेत गांव के सैंकड़ों लोग उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment: