(गुलफाम अली)
लोनी । सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना को धक्का देती हुई स्थिति वार्ड नंबर 9 लक्ष्मी गार्डन मे देखने को तब मिली जब लगभग 3 से 4 दिन से एक गौ माता बीमार पड़ी दिखाई दी हालांकि इसके लिए किसी ने कुछ भी नहीं किया एक समाज सेविका भावना बिष्ट को जैसे ही पता चला उन्होंने तुरंत डॉक्टरों को बुलाकर उसका इलाज करवाया तथा उसकी देखरेख की।

लक्ष्मी गार्डन वार्ड नंबर 9 मे कई दिनों से बीमार पड़ी है गौ माता तड़प रही थी । इसकी जानकारी जैसे ही समाज सेविका भावना बिष्ट को चली तो उन्होंने देखा कि गौ माता करा रही थी। तभी उन्होंने डॉक्टरों को सूचना देकर बुलवाया और उसका इलाज कराया। हालांकि इसकी जिम्मेवारी सरकार द्वारा चलाई जा रही आवर पशुओं को गोशाला में रखने की है। और इसकी देखरेख के लिए प्रशासन अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने नजरअंदाज करते हुए बीमार गौ माता को देखने के लिए कोई नहीं आया।और ना ही उसे किसी गौशाला में ले जाकर रखा गया ना ही उसका इलाज कराया गया ना ही उसे खाने की व्यवस्था की गई। हालांकि अभी भी वह उसी ही जगह पड़ी हुई है। और डॉक्टर इलाज करके आए तो आज पता चला कि कुछ उसे आराम है ।लेकिन उसका रहने का ठिकाना आज भी वही है। जहां वह बीमार पड़ी हुई थी ।अभी तक किसी भी ने इसकी सुध नहीं ली है। कि उसको किसी गौशाला में ले जाएं,और उसका सही तरह से इलाज कराएं। और खाने-पीने का भी ध्यान रखें। जबकि प्रदेश सरकार का सख्त आदेश है कि आवारा पशुओं को गौशाला में रखा जाए और उनका खाने-पीने का इंतजाम चिकित्सा सुविधा भी वही दी जाए। हालांकि वैसे तो घरों में लोग गायों को पाल लेते हैं और जब तक वह दूध देती है तब तक उसे घर में रखते हैं। उसके बाद उसे बिचारी को घर से बाहर निकाल देते हैं ऐसे ही लोगों के खिलाफ प्रशासन सख्त से सख्त कार्रवाई करें।
Share To:

Post A Comment: