रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार के साथ में रुड़की से इरफान अहमद की रिपोर्ट
9410563684


रुड़की । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रुड़की आने से पहले ही ₹100000000 का चेक भेज दिया है। यह चेक कोई चुनावी खर्च के लिए नहीं बल्कि किसानों के बकाया भुगतान के संबंध में भेजा गया है। बता दे कि कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री के द्वारा ₹360000000 इकबालपुर चीनी मिल के लिए इसलिए स्वीकृत किए गए थे। ताकि वह गन्ना किसानों का भुगतान कर सके ।इसमें से ₹260000000 आ चुके थे ।लेकिन ₹100000000 रुके हुए थे ।आज मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार डॉ नरेंद्र सिंह ने इस संबंध में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत से बात की ।उन्होंने बताया कि किसान का भुगतान जल्द से जल्द होना जरूरी है । क्योंकि पैसे की कमी में एक किसान की गेहूं की बुवाई प्रभावित हो रही है । माना जा रहा है कि इसीलिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से ₹100000000 का चेक भी आज भेज दिया गया है।

यह बकाया भुगतान जल्द ही किसानों के खाते में पहुंच जाएगा । साथ ही यह भी कहा गया है कि जो शेष भुगतान रह गया है । वह भी जल्द कराया जाएगा। इस संबंध में शासन अपने स्तर से प्रयास कर रहा है ।दूसरे इकबालपुर चीनी मिल प्रबंधन को निर्देशित किया गया है कि वह बकाया भुगतान जल्द से जल्द कराने के लिए व्यवस्था करें। ₹100000000 का चेक जारी कराने पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री सुबोध राकेश, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ,पूर्व अध्यक्ष सुशील चौधरी ,भाजपा के वरिष्ठ नेता सुभाष वर्मा ,पूर्व चेयरमैन चौधरी महावीर सिंह संजय पूर्व चेयरमैन मनोज सैनी आदि ने मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार की सराहना की है और उम्मीद जताई है कि और भुगतान भी जल्द से जल्द होगा। वहीं दूसरी ओर जब क्षेत्र में जानकारी मिली है कि मुख्यमंत्री की ओर से ₹100000000 का चेक भेजा गया है तो सियासी गलियारों में भी हलचल शुरू होई गई और आम व्यक्ति भी है जानने के लिए उत्सुक रहा कि यह चेक क्यों आया है। बहुत सारे लोग कहने लगे कि यह चुनावी खर्च के लिए आया है । जिसमें कुछ विपक्षी नेताओं ने तो मुख्यमंत्री की ओर से जारी किए गए इस चेक पर ऐतराज भी जताना शुरू कर दिया था ।जिसमें कह रहे थे कि यह चेक गलत जारी किया गया है और उसे रोक देना चाहिए यहां तक कि कुछ नेता तो चुनाव आयोग में दस्तक देने की तैयारी कर रहे थे। लेकिन जब उन्हें पता लगा कि मुख्यमंत्री के द्वारा जो चेक भेजा गया है। वह गन्ने के बकाया भुगतान के संबंध में भेजा गया ।तब विपक्षी विपक्षी नेता बगले झांकने लगे और सिर पकड़ कर बैठ गए
Share To:

Post A Comment: