रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार के साथ में रुड़की से इरफान अहमद की रिपोर्ट
 9410563684



भारत में बहुत सारे ऐसे लोग मौजूद हैं। जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नही है। फिर भी वे ड्राइविंग करते हैं वो भी बिना ड्राइविंग लाइसेंस के ऐसे में अगर कोई दुर्घटना हो जाती है। तो उसका बहुत बुरा खामयाजा भुगतना पड़ता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए उन लोगों के लिए मोदी सरकार ने खुशखबरी दी है दरअसल मोदी सरकार, ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के नियमों को लगातार आसान बनाती जा रही है

नाबालिक भी बनवा सकते हैं ड्राइविंग लाइसेंस

जिनकी उम्र 16 वर्ष की है, और जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नही है। वे लोग भी अब इलेक्ट्रॉनिक बाइक चलाने के लिए अपना लाइसेंस बनवा सकते हैं।

अनपढ़ लोग भी बनवा सकते है ड्राइविंग लाइसेंस

केंद्रीय मोटर यान नियम-1989 के नियम 8 के तहत ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदक को कम से कम आठवीं पास होना जरूरी था। लेकिन अब सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस नियम में बदलाव कर दिया है।मंत्रालय ने नोटिफिकेशन में कहा है कि आठवें संशोधन के जरिए केंद्रीय मोटर यान नियम-1989 के नियम 8 को हटा दिया गया है। यानि की अब अनपढ़ लोग भी ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते है इसी साल जून में सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के अनुरोध पर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की अनिवार्य शर्त आठवीं पास को खत्म करने का ऐलान किया था। तब गडकरी ने कहा था कि इस बदलाव के बाद देश में 22 लाख ड्राइवरों की कमी को पूरा किया जा सकेगा और बड़ी संख्या में कम पढ़े लिखे युवाओं को रोजगार मिल सकेगा। हालांकि, मंत्रालय ने इस नियम के खत्म होने के बाद ड्राइवरों को ट्रेनिंग देने पर जोर दिया था
Share To:

Post A Comment: