काशी । इंडियन केयर सोशल फाउंडेशन की द्वारा नारी सशक्तिकरण सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । फाउंडेशन की डायरेक्टर शबा खान के द्वारा बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सेल्फ डिफेंस की शिक्षा दी जा रही है । जिसमें महिलाओं को रेप छेड़खानी जैसी घटनाओं को रोकने के लिए बेटियों को ट्रेनिंग दी जा रही है । फॉउंडेशन की डायरेक्टर शबा खान ने बताया कि वो लगभग 400 बेटियों को निशुल्क ट्रेनिंग देकर आत्मनिर्भर बना रही हैं । इंडियन केयर सोशल फाउंडेशन के बैनर तले बेटियां डिस्ट्रिक्ट से स्टेट तक का बहुत मुश्किल सफर स्टेट खेल कर आई हैं । उनका मनोबल बढ़ाने के लिए इंडियन केयर सोशल फाउंडेशन की तरफ से उनका सम्मान समारोह किया गया । सम्मान समारोह में  बेटियों को सर्टिफिकेट व अवार्ड से सम्मानित किया गया । विजेता बेटियों को माला पहनाकर व मिठाइयां खिलाकर खुशी मनाई गई जिससे बेटियों की हौसला अफजाई हो और आगे बढ़ें । चंदौली की टीम के साथ बच्चियां आगरा खेलने गई थी । जिसमें 46 बच्चे थे । इस अवसर पर पर्यावरण संयोजक कृष्णमोहन के द्वारा पौधा वितरण किया गया । इंडियन केयर सोशल फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम की सभी ने सराहना की तथा अपने विचार और अनुभव सबके बीच साझा किये । लेकिन ज्यादातर विशिष्ट श्रेणी की अतिथियों की अनुपस्थिति ही रही । पोस्टर पर नाम लिखवाने के बाद भी समयाभाव का बहाना भरतीय संस्कृति को दर्शाती है ,जहाँ स्वार्थ दिखे वही विशिष्ट लोग दिखते हैं यही भारतीय परंपरा बन गयी है । कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष मा.शमशाद ने की । कुशल मंच संचालन शबा खान ने किया ।कार्यक्रम में मुख्य रूप से खुशबू ,स्वेता बिंद ,डॉ सुल्तान,डॉ इंदु,रिजवान अहमद,टुनटुन भाई,जायसवाल,सीता साहनी,भाई सुल्तान ( ट्रेनर,ताइक्वांडो ) डॉ एसके,अशोक कुमार,कुंदन आदि उपस्थित रहे । इंडियन सोशल  फाउंडेशन शबा खान ने कहा कि मुझे किसी भी तरह से समाज के वंचित महिलाओं की मदद करना है,बेटियों को आत्मनिर्भर बनाना है,शिक्षा-सुरक्षा-आत्मरक्षा के लिए तन-मन-धन से काम करना है । अपनी माताजी की अस्वस्थता के बावजूद इस कार्यक्रम का आयोजन करके शबा खान ने आत्मबल और आत्मसंयम का परिचय दिया । कृष्णमोहन के द्वारा सबको एक छोटे पौधे का वितरण अत्यंत सराहनीय रहा । सबा खान ने  सभी का तहे दिल से अभिनंदन किया । कार्यक्रम के आयोजन और प्रयोजन का, मुख्य अतिथि चंदौली के एसपी हेमंत कुटियाल व किसी कारणवश इस प्रोग्राम में उपस्थित न हो सके ।
Share To:

Post A Comment: