उन्नाव की बेटी के साथ हुई घटना देश के माथे पर एक ओर कलंक 
गाजियाबाद । देश निर्भय कांड ,हैदराबाद की घटना से अभी उभर भी नही सका था कि उन्नाव में देश की एक ओर बेटी के साथ बलात्कार और  उसकी मौत की घटना सामने आई । 
इस घटना से देश के माथे पर एक ओर कलंक लग गया । 
क्या देश मे मानवता खत्म हो चुकी है क्या इस देश मे बेटियो को जीने का कोई अधिकार नहीं है । 
देश की सरकार का नारा क्या झूठा है बेटी बचाओ बेटी बढ़ाओ ?
देश की सरकार से में मांग करती हूं कि देश को जरूरत है रेप के मामलों में सख्त कानून की ताकि बलात्कारी ऐसी घटना करने से पहले लाख बार सोचें  ।
नही तो देश की सरकार बंद करे नारा 
बेटी बचाओ बेटी बढ़ाओ । 
उन्नाव के दोषियों को भी वही सज़ा मिले जो हैदराबाद के दोषियों को मिली है । 
मेरा मानना है कि देश मे बलात्कारियो को जेलों में बंद करके उनकी सेवा  ऐसे की जा रही है जैसे उन्होंने कोई जुर्म ही नही किया हो । उन सब को जेलों में से निकाल कर ओर उन्नाव के दोषियों के साथ वही सज़ा मिले जो हैदराबाद के दोषियों को  मिली । 
Share To:

Post A Comment: