रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार के साथ में रुड़की से इरफान अहमद की रिपोर्ट
 9410563684

दिल्ली. अक्सर बुजुर्गों के साथ उनके बुढ़ापे में जवान बेटे बहू और उनके परिजन बेहद बुरा सलूक करते हैं. इसे रोकने के लिए सरकार ने बकायदा कानून बना दिया है. अब ऐसा करने वालों को जेल तक जाना पड़ सकता है.

अब अगर आपने किसी भी तरीके से अपने बुजुर्गों को प्रताड़ित किया तो इसकी आपको बड़ी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. ऐसा करने वालों को छह महीने की जेल की सजा तक भुगतनी पड़ सकती है. इसके अलावा तगड़ा जुर्माना भी ठोंका जा सकता है.

अब बुजुर्गों के भरण पोषण की जिम्मेदारी सिर्फ बेटे की नहीं होगी बल्कि इस दायरे में बहू और दामाद भी शामिल होंगे. बुजुर्गों की उपेक्षा पर रोक लगाने के लिए लोकसभा में माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण पोषण और कल्याण संशोधन बिल पेश किया गया. इसमें 6 महीने की सजा के साथ साथ जुर्माने का भी प्रावधान किया गया है
Share To:

Post A Comment: