(यूसुफ मलिक)
लोनी,गाज़ियाबाद - जिले में लग रही फ़र्ज़ी आख्याओ के संदर्भ में भिन्न भिन्न सामाजिक संगठनों के जिम्मेदारों ने गुरुवार को ज़िलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेजा।समाजसेवी नौशाद सैफी ने बताया कि आपके जन समस्याओं को सुनने हेतू IGRS, तहसील दिवस,सामान्य समाधान दिवस हो या 1076 की कॉल हो तमाम माध्यम जो सीधे आप से जोड़ते हैं और जनता जिनके द्वारा अपनी शिकायत आपको प्रेषित करती हो और उसके बाद वह शिकायत संबंधित विभाग को जाती है ऐसे तमाम पोर्टल की शिकायतों पर आपके अधिकारी गण कर्मचारी  शिकायतों का मौके पर जाकर निस्तारण नहीं करते बल्कि पोर्टल पर फर्जी व झूठी आख्या लगाकर शिकायतों का निस्तारण करते हैंl
                   
गाजियाबाद जनपद में भी लगभग सभी विभाग ऐसी फर्जी आख्या लगाकर  शिकायतों का धड़ल्ले से निस्तारण कर रहे हैं ना तो कोई भी अधिकारी कर्मचारी मौके पर जाता है और ना ही उस समस्या का समाधान किया जाता है समाज सेवी आर पी पांडेय ने बताया कि गाजियाबाद जनपद के लोनी नगर पालिका क्षेत्र जन समान्य व रोज मर्रा पैदा होने वाली समस्याओं जैसे पानी की निकासी मछरों की कीटनाशक दवाई लीकेज की समस्या नाली खड़ंजे की समस्या स्ट्रीट लाइट की समस्या साफ सफाई की समस्या पुलिया टूटने की समस्या वाटर टैक्स हॉउस टैक्स जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र की समस्या प्रदूषण की समस्या आदि भी लोनी नगर पालिका फर्जी आख्या लगा कर पटाक्षेप करती है जब भी पोर्टल पर शिकायत दर्ज की जाती है चाहे वो तहसील दिवस की हो या समाधान दिवस की हो तो उन शिकायतों पर नगरपालिका हो या तहसील दिवस हो फर्जी आख्या फर्जी नंबर लगाकर शिकायत को बंद कर देते हैं बार-बार शिकायत करने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होती है! ओम वर्मा ने बताया कि सभी समाज सेवक चाहते हैं या तो जनसुनवाई पर या तहसील दिवस पर झूठी आख्या ना लगाई जाए जो आख्या झूठी होती है उसकी शिकायत किसी अन्य अधिकारी पर की जाए ऐसा कोई अधिकारी नियुक्त किया जाए अगर ऐसा भी संभव नहीं होता है तो जनसुनवाई पोर्टल तहसील दिवस को हम सब के विचार से बंद कर देना चाहिए धन और समय दोनों की बर्बादी होती है राजस्व को बचाया जाना चाहिए। इस मौके पर नौशाद सैफी, आर पी पांडेय, ओम शर्मा, बी के चौधरी , अमित त्रिपाठी, अनुज शर्मा, एडवोकेट आमिर हुसैन, सोनू इदरीसी आदि रहे।
Share To:

Post A Comment: