केंद्रीय मंत्री व सांसद डॉक्टर संजीव बालियान पहुंचे ठंड से ठिठुरते लोगो के बीच
मुजफ्फरनगर । केंद्रीय मंत्री व सांसद डॉ संजीव बालियान  ठंड से ठिठुरते लोगों के बीच पहुंचे  और ठंड से ठिठुरते लोगो को बांटे कम्बल ,लोगो से पूरी जानकारी ली और कहा किसी को भी कोई दिक्कत हो या कोई जरूरत हो तो मुझसे घर आकर मिले ।
मंत्री के हाथों से सर्दी में कम्बल पाकर ठंड से ठिठुरते हुए बच्चे महिलाएं व बुजुर्ग खुश हो गये । डॉक्टर संजीव बालियान रोडवेज बस स्टैंड से कम्बल बांटते हुए अस्थाई रेन बसेरा,साई धाम मंदिर, शेल्टर हाउस, रेलवे स्टेशन से जनपद की ह्र्दयस्थली शिव चोक पर बाबा भोलेनाथ के द्वार पहुंचे ।
वहाँ पर गरीब बेसहारा लोगो को कम्बल बांटे । मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि आप लोगो के लिए रहने खाने पीने व सोने के लिए शेल्टर हाउस बनवाया हुआ है । अब कोई भी खुले आसमान के नीचे नहीं रहेगा ।
वहीं एडीएम प्रसासन अमित कुमार को दिशा निर्देश दिए कि इन लोगों को किसी तरह की भी कोई समस्या नही होनी चाहिये । सर्दी में ठिठुरते हुए लोगो के लिए अलाव की व्यवस्था करवाई ।
एडीएम को कहा किसी को दो या तीन कम्बल की आवश्यकता हो तो कराए कम्बल की पूरी व्यवस्था ।

शिव चोक पर जमकर सेल्फी व फोटो सेशन कराया केंद्रीय मंत्री डॉ संजीव बालियान ने लोगो के साथ,वही मुस्लिमो ने भी जमकर खिंचवाए फोटो ।
महिलाओ ओर छोटे छोटे बच्चो के साथ खुद ही ली शिव चोक पर केंद्रीय मंत्री ने सेल्फी ।
 गदगद हो उठे मंत्री के व्यवहार से शिव चोक पर उपस्थित लोग,सभी से जनपद के बारे में सुरक्षा व्यवस्था पुलिस प्रसासनिक व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने ।

गरीब बेसहारा लोगो के बीच बैठ कर बतियाये मंत्री संजीव बालियान ।
शिव चोक से मुस्लिम बहुल क्षेत्र मीनाक्षी चोक पर भी पहुंचे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान देर तक मीनाक्षी चोक पर ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों से की वार्ता ,पूछा कोई दिक्कत तो नही यहाँ, एडीएम प्रसासन अमित कुमार से ली मीनाक्षी चोक की पूरी जानकारी ,वही एडीएम को दिए मीनाक्षी चोक को लेकर कई दिशा निर्देश ।
देर रात तक कवरेज के दौरान फील्ड में मेहनत करने पर पत्रकारों को दिया धन्यवाद पत्रकारो की ,की जमकर तारीफ कहा मेरे भाइयो की तरह है मेरे पत्रकार भाई ।
मीनाक्षी चोक से अपने आवास को कर गए कूच केंद्रीय मंत्री व सांसद डॉक्टर संजीव बालियान अपने दल बल के साथ ।
Share To:

Post A Comment: