आज़मगढ़ के दो मुस्लिम युवकों के  साथ लिनचिंग,आर यू सी और अल फ़लाह फ्रण्ट के लोगों की पीड़ितों से मुलाक़ात आरोपियों के विरुद्ध सख्त करवाई की मांग 

आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाये :अल फ़लाह फ्रण्ट 
आज़मगढ़  हसन खान । आज़मगढ़,आज़मगढ़ के दो मुस्लिम युवकों के साथ सुल्तानपुर ज़िला में मोब लिंचिंग की घटना होने से एक बार फिर क़ानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किये जा रहे हैं।बता दें कि बीते 21नवम्बर को आज़मगढ़ के थाना रानी की सराय के अंतर्गत ग्राम रोवां के तीन युवक पिकआप गाड़ी में भैंस लेकर जा रहे थे।सुल्तानपुर ज़िला के सूरापुर,कादीपुर के पास सैकडों की  भीड़ ने दोनों मुस्लिम युवकों को बंधक बनाकर मार मारकर अधमरा कर दिया।इसके बाद दोनों युवकों को मरा हुआ समझकर सड़क किनारे झाड़ी में फेंक दिया।रास्ते से गुज़र रहे एक पत्रकार ने दोनों युवकों को अस्पताल पहुंचाया।इस घटना के बाद से आज़मगढ़ वासियों में ज़बरदस्त ग़ुस्सा पाया जा रहा है।घटना की सूचना पाकर राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना ताहिर मदनी ने पार्टी के तल्हा रशादी,नूरुलहुदा और शकील अहमद आदि के साथ पीड़ितों से मुलाक़ात की।इसके अतिरिक्त आज अल फ़लाह के अध्यक्ष ज़ाकिर हुसैन ने पीड़ितों से मुलाक़ात कर हर मुमकिन सहायता का आश्वसन दिया।इस अवसर पर ज़ाकिर हुसैन ने कहा कि मोब लिंचिंग के विरुद्ध एक सख्त कानून बनना चाहिये।इस अवसर पर ग्राम रोवां के निवासी मुहम्मद शादाब ने आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की मांग की।इस अवसर पर मुहम्मद अज़फर आदि उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment: