रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684


इस धरती पर प्रत्येक जलस्त्रोत और जलधारा गंगा के समान ही पावन और जीवनदायिनी है। जल का प्रवाह गंगा के पावन प्रवाह के समतुल्य है। प्रत्येक जलस्त्रोत तथा जलधाराओं को सुरक्षित तथा स्वच्छ रखना गंगा स्वच्छता अभियान के लिए प्रत्येक नागरिक का अमूल्य योगदान बन सकता है।

प्रत्येक नदी, जलधारा, स्त्रोत, झील, तालाब की प्रत्येक जल की बँूद ‘स्पर्श गंगायें’ हैं। जल की प्रत्येक बूँद को स्वच्छ तथा संरक्षित रखना स्पर्श गंगा अभियान है। इस अभियान का हिस्सा बनकर गंगा स्नान के महत्व के समान ही पुण्य अर्जित किया जा सकता है। यह प्रयास ‘गंगा स्तुति’ है।

माँ गंगा एवं सहायक नदियों की स्वच्छता, निर्मलता, अविरलता और पावनता के संरक्षण सवर्धन हेतु तत्कालीन मुख्यमंत्री और वर्तमान में मानव संसाधन विकास मंत्री भारत सरकार एवम हरिद्वार सांसद डॉ रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ जी द्वारा 2009 में शुरू किये “स्पर्श गंगा अभियान” से जुड़ने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।
इसी संकल्प को आगे बढ़ाते हुए मां गंगा के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए आज राजकीय इंटर कॉलेज रुड़की हरिद्वार में स्पर्श गंगा टीम एवं विद्यालय के सैकड़ों छात्रों एवं अध्यापकों द्वारा गंगा की स्वच्छता, अविरलत एवं निर्मलता के लिए एक जन जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। रैली से पूर्व स्पर्श गंगा अभियान की प्रमुख कार्यकर्ता रीता चमोली जी ने छात्रों एवं अध्यापकों को गंगा शपथ दिलाई। तत्पश्चात विद्यालय के प्रधानाचार्य  श्री राम मिलन जी ने रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया रैली, मां गंगा के जयघोष के साथ शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए वापस राजकीय इंटर कॉलेज रुड़की में पहुंचकर संपन्न हुई।
 रैली में प्रतिभाग करने वाले सक्रिय कार्यकर्ताओं में  रीता चमोली, मनु रावत, प्रतिभा चौहान, आशा धस्माना, गीता कार्की, हेमा बिष्ट, सुनीता गोस्वामी, रीता रावत, सरस्वती, कमला बमोला, मंजू लता व अनिता जोशी के साथ-साथ विद्यालय के स्काउट प्रभारी शिक्षक ललित मोहन जोशी एवं एनएसएस प्रभारी रविकांत सक्सेना ने सक्रिय योगदान दिया। इसके साथ ही शिक्षकों राम शंकर सिंह, रविंद्र चौहान, इश्तियाक अहमद, दुर्गेश नंदिनी, कालीचरण यादव, रामकुमार वर्मा, सतेंद्र कुमार , एसपी यादव आदि शिक्षकों ने इस जागरूकता रैली को सफल बनाने में अभूतपूर्व योगदान दिया।
Share To:

Post A Comment: