रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार के साथ में रुड़की से इरफान अहमद की रिपोर्ट
9410563684


लखनऊ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) अपने दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ आई हैं. इस दौरान आज जब वो CAA प्रोटेस्ट (CAA Protest) मामले में जेल में बंद रिटायर्ड पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता एसआर दारापुरी के घर जा रही थीं तो स्थानीय पुलिस ने उनके काफिले को रोक दिया. जिसके बाद प्रियंका गाड़ी से उतर कर पैदल ही उनके घर की ओर निकल पड़ीं. पुलिस-प्रशासन और उनकी सुरक्षा दस्ते को जब तक कुछ समझ आता प्रियंका गांधी पैदल मार्च करते चल पड़ीं. लेकिन प्रियंका गांधी का आरोप है कि इस दौरान UP Police ने उनके साथ ज्यादती की.

प्रियंका का सत्याग्रह

तकरीबन 4 से 5 किलोमीटर पैदल चल कर प्रियंका गांधी एस आर दारापुरी के घर पहुंची इस दौरान प्रियंका के समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा पुलिस-प्रशासन दोनों ही प्रियंका के कद के आगे बौने नजर आए. एसआरा दारापुरी के घर के आलावा वो लखनऊ में हिंसा के आरोप में गिरफ्तार सदफ जफर (Sadaf Jafar) के घर भी पैदल ही पहुंची. हालांकि इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ लखनऊ पुलिस द्वारा अभद्रता किए जाने के आरोप भी लगे. प्रियंका गांधी ने अपने ऑफिसियल फेसबुक वाल पर पुलिस ज्यादतियों पर लिखा ''उप्र पुलिस की ये क्या हरकत है. अब हम लोगों को कहीं भी आने जाने से रोका जा रहा है. मैं रिटायर्ड पुलिस अधिकारी और सामाजिक कार्यकर्ता एस आर दारापुरी के घर जा रही थी. उप्र पुलिस ने उन्हें एनआरसी और नागरिकता कानून का शांतिपूर्वक विरोध करने पर घर से उठा लिया है. मुझे बलपूर्वक रोका और महिला अधिकारी ने मेरा गला पकड़ कर खींचा. मगर मेरा निश्चय अटल है. मैं उत्तर प्रदेश में पुलिस दमन का शिकार हुए हरेक नागरिक के साथ खड़ी हूं. मेरा सत्याग्रह है. भाजपा सरकार कायरों वाली हरकत कर रही है. मैं उत्तर प्रदेश की प्रभारी हूं और मैं उत्तर प्रदेश में कहां जाऊंगी ये भाजपा सरकार नहीं तय करेगी"
Share To:

Post A Comment: