गाजियाबाद/तरीकत चौधरी । जमीअत उलमा-ए-हिंद जिला इकाई ने शुक्रवार को नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में कलेक्ट्रेट पर शांतिपूर्वक धरना दिया । केंद्र सरकार ने CAB बिल लाकर संविधान का कत्ल किया है । यह बिल हिंदुस्तान के संविधान के बिल्कुल विरुद्ध है ।
इस सिलसिले में जमीयत उलेमा-ए-हिंद जिला गाजियाबाद में जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना देकर इस बात की मांग की कि इस बिल को वापस लिया जाए । क्योंकि यह बिल हिंदुस्तान के संविधान के खिलाफ है और मुसलमानों के भी खिलाफ है । जमीयत उलमा-ए-हिंद जिला गाजियाबाद के सदर मौलाना इब्राहिम ने कहा कि केंद्र सरकार को जल्दी ही इस बिल को वापस लेना चाहिए । जमीअत उलमा-ए-हिंद जिला गाजियाबाद के महासचिव मौलाना असद ने कहा कि अगर हुकूमत इस बिल को वापस नहीं लेगी तो  जमीयत उलेमा-ए-हिंद सड़कों पर उतरकर इस बिल का विरोध करेगी 
इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने हुकूमत के मुखालिफ नारे लगाए और हाथों में तख्तियां लेकर संविधान बचाओ के नारे भी लगाए । इस दौरान प्रदर्शनकारियों में मौलाना शाबान, सदर जमीअत उलमा ए हिंद तहसील गाजियाबाद कारी तनवीर, मौलाना वासिफ, जमीअत उलमा ए हिंद यूथ क्लब तहसील गाजियाबाद के कन्वीनर  मुफ्ती फुरकान, अख्तर कासमी, कारी मुस्तफा हाफिज मुस्तकीम, कारी इंतजार के अलावा सैकड़ों लोग मौजूद रहे
Share To:

Post A Comment: