लखनऊ । प्रदेश में कानून व्यवस्था में सुधार और अपराध पर नियंत्रण के लिए 100 थानों में बीट प्रणाली लागू कर दी गई है। डीजीपी के निर्देश पर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इसे शुरू किया गया है ।
डीजीपी मुख्यालय से जारी निर्देश के मुताबिक सभी रेंज मुख्यालय के जिलों जैसे लखनऊ, फैजाबाद, कानपुर, झांसी, आगरा, अलीगढ़, मेरठ, सहारनपुर, बरेली, मुरादाबाद, वाराणसी, मिर्जापुर, आजमगढ़, गोरखपुर, बस्ती, देवीपाटन, प्रयागराज और चित्रकूट के अलावा गाजियाबाद, नोएडा, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, सीतापुर, मथुरा और जौनपुर में दो-दो थानों पर बीट प्रणाली व्यवस्था बृहस्पतिवार से प्रभावी कर दी गई है ।
इसके अतिरिक्त प्रदेश के बाकी बचे 50 जिलों में कम से कम एक-एक थानों पर यह व्यवस्था शुरू की गई है। इन जिलों के पुलिस कप्तानों को निर्देश दिया गया है कि थाने पर उपलब्ध बल में से 40 फीसद पुलिस कर्मियों को बीट ड्यूटी में तैनात किया जाए।
इन पुलिस कर्मियों से किसी और तरह का काम नहीं लिया जाएगा । बीट पर तैनात किए गए सिपाहियों को डाटा प्लान के साथ सीयूजी, छोटा शस्त्र, वायरलेस और सरकारी दो पहिया गाड़ी दी जाएगी ।
निर्देश यह भी दिए गए हैं कि बीट का निर्धारण हल्का लेखपाल को देखते हुए किय जाए ताकि जमीन विवाद या अन्य मामलों में सीमा विवाद की गुंजाइश कम से कम रहे। प्रदेश के सभी जिलों में यह व्यवस्था बृहस्पतिवार से लागू कर दी गई है।
Share To:

Post A Comment: