पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड विद्युत चोरी रोकने हेतु प्रतिबद्ध :प्रबंध निदेशक ।
14 जनपद में आकास्मिक मॉर्निंग रेड से मचा हडकंप ।माॅर्निंग रेड से विद्युत चोरो की नींद हराम । 
14 जनपदों में 3594 विधुत चोरी के प्रकरणों में एफ0
आई0आर0 दर्ज । शमन और जुर्माने की कार्यवाही की जा रही है। 
विद्युत चोरों को किसी भी दशा में बक्शा नहीं जायेगा। 
विद्युत चोरी पर संलिप्तता पर एफ0आई0आर0 दर्ज कर विदित कार्यवाही की जायेगी।
   प्रबन्ध निदेशक, अरविन्द मल्लप्पा बंगारी(IAS ), के निर्देशानुसार पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि0 के सभी 14 जनपदो में मार्निंग रेड कर चेकिंग की गयी । जिसमें  8105 संयोजन चैक किये गये जिसमें 3594  प्रकरणों  के विरूद्ध एन्टी थैफ्ट थानों में एफ0आई0आर0 दर्ज करायी गयी। इस सम्बन्ध में प्रबन्ध निदेशक ने कहा कि विद्युत चोरी पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जायेगा विद्युत चोरों पर कड़ी  से कड़ी कार्यवाही की जायेगी ।
मेरठ क्षेत्र के अन्तर्गत माॅर्निंग रेड में 622 संयोजन चैक किये गये। जिनमें से धारा 135 में 212 एफ0आई0आर0 एवं धारा 138-बी के अन्र्तगत 43 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी।
मुरादाबाद क्षेत्र के अन्र्तगत माॅर्निंग रेड में कुल 2340 कनेक्शन चैक किये गये। जिनमें से धारा 135 में 1104 एफ0आई0आर0 एवं धारा 138-बी के अन्र्तगत 504 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी।
 बुलन्दशहर क्षेत्र के अन्र्तगत माॅर्निंग रेड में 1810 संयोजन चैक किये गये। जिनमें से धारा 135 में 399 एफ0आई0आर0 एवं धारा 138-बी के अन्र्तगत 338 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी।
    गाजियाबाद क्षेत्र के अन्र्तगत माॅर्निंग रेड में 1363 संयोजन चैक किये गये। जिनमें से धारा 135 में 211 एफ0आई0आर0 एवं धारा 138-बी के अन्र्तगत 98 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी।
    सहारनपुर क्षेत्र के अन्र्तगत माॅर्निंग रेड में 1351 संयोजन चैक किये गये। जिनमें से धारा 135 में 234 एफ0आई0आर0 एवं धारा 138-बी के अन्र्तगत 185 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी।
    अभियान में चेकिंग के दौरान नोएड़ा क्षेत्र के अन्र्तगत माॅर्निंग रेड में 619 संयोजन चैक किये गये। जिनमें से धारा 135 में 181 एफ0आई0आर0 एवं धारा 138-बी के अन्र्तगत 78 एफ0आई0आर0 दर्ज की गयी।
    इस सम्बन्ध में अरविन्द मल्लप्पा बंगारी (IAS ), प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि0, द्वारा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि विद्युत चोरी में पकड़े गये संयोजनों की कड़ी निगरानी की जाये । ऐसे संयोजनों पर शीघ्र से शीघ्र राजस्व निर्धारण कर वसूली की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये ।
Share To:

Post A Comment: