गुर्जर शोध संस्थान में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया बाबू हुकुम सिंह की प्रतिमा का अनावरण, कहा हमेशा गुर्जर समाज के विकास के लिए किया कार्य, लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने बताया प्रेरणास्रोत ।
लोनी । शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री माननीय राजनाथ सिंह ने अखिल भारतीय गुर्जर संस्कृति शोध, संस्थान गौतमबुद्धनगर के संस्थापक एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री- वरिष्ठ भाजपा नेता रहें बाबू हुकुम सिंह की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान बाबू हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह समेत सभी क्षेत्र से गुर्जर समाज का प्रबुद्धजन एवं बुद्दिजीवी वर्ग बड़ी संख्या में उपस्थित रहा। वहीं समाज से आने वाले सभी जनप्रतिनिधि मौजूद रहे जिनमें केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, विशिष्ठ अतिथियों पंकज सिंह, विधायक नंदकिशोर गुर्जर, तेजपाल नागर, सांसद महेश शर्मा, प्रदीप चौधरी, सोमेंद्र तोमर समेत सभी गणमान्य अतिथि की मौजूदगी रही।
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बाबू हुकुम सिंह को बताया बड़ा भाई, कहा ज्ञानपुंज थे हुकुम सिंह ।

केंद्रीय रक्षा मंत्री माननीय राजनाथ सिंह ने प्रतिमा अनवर्म के बाद कहा कि गुर्जर समाज में पन्नाध्याय और मिहिर भोज की ताकत समाहित है। हमेशा भारत की और  देश की संस्कृति की रक्षा की है। करगिल युध्द जितने में  भी समाज ने जाना पर खेलकर सरकार को सूचना दी है। सम्राट मिहिर भोज ने लंबे समय तक देश और सनातन संस्कृति की रक्षा एवं समृद्धता में योगदान दिया है। गुर्जर समाज सभी को सतग लेकर चलता ह। मेरे लिए बाबू हुकुम सिंह बड़े भाई थे। एक विद्धवान विराट व्यक्तित्व के धनी थे हुकुम सिंह जी। उन्हीं 
के द्वारा स्थापित इस शोध संस्थान में आजका कार्यक्रम हो रहा है, इसकी ज़मीन हमने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में स्वीकृत किया था। समाज को बाबू हुकुम सिंह जी से बहुत कुछ सीखना चाहिए क्योंकि वह ज्ञान पुंज थे।
वहीं केंद्रीय मंत्री जी ने कानून नागरिकता संशोधन कानून पर भी बता रखते हुए कहा कि यह निर्णय देशहित में है। पाकिस्तान जिंदाबाद करने वाले लोगों को इस कानून से डरना चाहिए। भारत माता की जय करने वालों को नहीं।
ज्ञान के विश्विद्यालय थे बाबू हुकुम सिंह,समाज के लिए सदैव रहेंगे प्रेरणादायक-नंदकिशोर गुर्जर ।

विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि श्रद्धेय बाबू हुकुम सिंह समाज के प्रेरणादायक है।आज भी विधान सभा में नियम के तहत चर्चा के दौरान बाबू हुकुम सिंह की विद्वता स्मरण की जाती है। बाबूजी स्वंय ज्ञान के विश्विद्यालय थे। समाज और पूरे यूपी में शिक्षा के लिए उन्होंने बेहतरीन कार्य किया और कृषि  मंत्री रहते हुए उनके कार्य आज भी अनुकरणीय है। बाबूजी का विराट व्यक्तित्व सदैव गुर्जर समाज के लिए प्रेरणादायक एवं अनुकरणीय है। कार्यक्रम में  विभिन्न क्षेत्रों से आये भारी संख्या में लोगों के सामने सभी जनप्रतिनिधियों ने बाबू हुकुम सिंह जी की जीवनी पर प्रकाश डाला।
Share To:

Post A Comment: