रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684

            अजमीर व उदयपुर पट्टी के बीच गेंद को अपने अपने, पाले में करने के लिये दोनो ही पट्टियों के गिंदेरे खुब संघर्ष करते रहे 2017 से उदयपुर गेंद प्रतियोगिता को अपने पाले मे लाने के लिये संघर्ष करती रही लेकिन अजमेर ने गत तीन सालों से उदयपुर के अरमानों को सफल नही होने दिया ईस बार पट्टी उदयपुर के गिंदेरे पुरे जोश खरोश के साथ मैदान मे उतरे और 5 घंटे 19 मिनट तक चले ईस संघर्ष मे 20 किलो वजनी गेंद को उदयपुर के पाले मे लाकर तीन साल के सुखे को समाप्त कर एक बार फिर अजमीर उदयपुर गेंद की प्रतिष्ठित खिताब को अपने पाले मे लाकर उदयपुर को सफलता प्रदान करी

ये दुनिया का एक मात्र यैसा खेल जिसमें ना कोई नियम ना कानून ना समय की पाबंदी और ना ही खिलाडियों कि निर्धारित संख्या ये गिंदी कौथिग राज्य मेला के रुप मे मनाया जाता है और अजमीर उदयपुर पट्टी के लोग ईस मेले मे बढ चढकर हिस्सा लेते हैं साल 2020 की चैंपियन उदयपुर पट्टी की ओर से क्षेत्रिय युवाओं के साथ साथ उदयपुर पट्टी के क्षेत्रिय प्रतिनिधियों  ने भी बढ चढकर हिस्सा लिया जिनमें क्षेत्र पंचायत सदस्य बूंगा पूर्व सैनिक सुदेश भट्ट ग्राम प्रधान उमडा सत्या हर्षवाल जिला पंचायत सदस्य गुमालगांव बिनोद डबराल समाज सेवी रामलाल बेलवाल समेत कई उदयपुरी प्रतिनिधि अपनी टीम की हौसलाफजाई के लिये गेंद मेला के बीच संघर्ष मे नजर आये ओर उदयपुर की जीत पर समस्त प्रतिनिधियों ने हर्ष व्यक्त कर समस्त गिंदेरे युवाओं को शुभ कामनायें प्रदान करी
Share To:

Post A Comment: