मेरठ ( हसन खान ) । पुलिस अधिकारियों के बीच की लड़ाई इस मुकाम पर पहुंच गई कि एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहना पड़ा कि एसएसपी गौतम बुद्ध नगर वैभव कृष्ण से संबंधित जितनी भी शिकायतें हैं उन सब की जांच की जा रही हैं और 15 दिन के लिए इस जांच कमेटी का समय आगे बढ़ा दिया गया है ।
एसएसपी गौतम बुद्ध नगर की जो वीडियो क्लिप वायरल हुई है उससे संबंधित विभिन्न धाराओं में और आईटी एक्ट में मुकदमा पंजीकृत हो गया है और पुलिस अधीक्षक हापुड संजीव सुमन इसकी विवेचना कर रहे हैं ।
आईजी रेंज आलोक सिंह मेरठ के द्वारा साइबर क्राइम की टीम और एसटीएफ के साथ इसे निर्देशित किया जा रहा है ।
डीजी जोन प्रशांत कुमार ने कहा कि एसएसपी गौतम बुद्ध नगर द्वारा उक्त गोपनीय पत्रों में उल्लेखित तथ्यों को जो अवगत कराया है उसी के संदर्भ में वैभव कृष्ण से स्पष्टीकरण मांगा गया है । क्योंकि उन्होंने विभाग के नियमों को तोड़ा है । 
एडीजी जोन ने बताया कि मेरठ के पत्रकार को गैरकानूनी तरीके से उठाने के संबंध में भी एक तहरीर प्राप्त हुई है और उसके आधार पर भी कार्रवाई की जाएगी । समय आने पर विभागीय जांच के बाद जो भी प्रथम दृष्टया आरोपी सामने आता है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी ।
एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार के संबोधन में उन्होंने पत्रकारों को धन्यवाद दिया और कहा कि जो पीयूष राय को गैरकानूनी ढंग से नोएडा पुलिस उठाने आई थी उसका भी संज्ञान ले लिया गया है और समय के साथ उस पर भी कार्रवाई की जाएगी ।
बता दें कि एसएसपी वैभव कृष्ण उस समय सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने पांच अधिकारियों पर संगीन आरोप लगाए थे ।
 डीजीपी उत्तर प्रदेश ओपी सिंह ने इस पूरे मामले की जांच एडीजी जोन प्रशांत कुमार को सौंपी है ।
Share To:

Post A Comment: