गाजियाबाद तरीकत चौधरी। जनपद गाजियाबाद स्थित ग्राम मसूरी के आस पास के जैसे ग्राम जैसे मसूरी,नाहल, ढबारसी,मुबारकपुर, कुशलिया, कल्लूगढ़ी ,पिपलैडा, देहरा, गालंद,लाखन ढबारसी आदि ग्रामों की लगभग 5-6 लाख की आबादी का क्षेत्र है । यह एनसीआर का एक जागरूक क्षेत्र होने के कारण यहाँ लगभग  70 % आबादी है जहां गरीब जनता निवास करती है । यहां के लोग अपनी बेटियों को शिक्षा दिलाने हेतु हमेशा तत्पर रहते हैं तथा इलाज के लिए भी कोई अस्पताल न होने के कारण इलाज के लिए गाजियाबाद या हापुड़ जाना पड़ता है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की योजना " बेटी बचाओ बेटी पढाओ " अभियान जोर शोर से पूरे भारतवर्ष में जारी है तथा हमारे देश का लक्ष्य है 100% साक्षरता ।  मसूरी क्षेत्र में सहायता प्राप्त व प्राइवेट इंटर कॉलेज नहीं हैं । इसलिए क्षेत्रीय जनता अपनी बेटियों को गाजियाबाद या पिलखुआ जो मसूरी से लगभग 12 से 15 किलोमीटर दूर हैं पढने के लिए भेजते ही नहीं । क्योंकि इंटर कॉलेज केवल इन्हीं शहरों में है । इसलिए मसूरी क्षेत्र को डिग्री कॉलेज की अति आवश्यकता है । इसके लिए मसूरी की हापुड़ गाजियाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगभग 35 40 बीघे जमीन एलएमसी की पड़ी है । जिसमें कॉलेज और हॉस्पिटल आसानी से बनाया जा सकता है । वैसे भी कहा गया है कि अगर एक लड़का बेटा पड़ता है तो एक पड़ता है और बेटी पड़ती है तो एक परिवार पड़ता है । इसके लिए एसडीएम सदर को क्षेत्रीय लोगों ने ज्ञापन सौंपा । जिनमें मुख्य रूप से आरिफ मैम्बर,अफसर मैम्बर,डाॕ मुजीबुररहमान मैम्बर,सागर मैम्बर,सुनील B.D.C,कैलाश B.D.C शामिल रहे ।                                                           

Share To:

Post A Comment: