रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684

              एक से बढ़कर एक नेता भाजपा वह कांग्रेस पार्टी को दिए हैं लेकिन बड़े दुर्भाग्य की बात है यह क्षेत्र सड़क बिजली पानी शिक्षा स्वास्थ्य के लिए आज भी विकास की गति से कोसों दूर है बिजनी मोहन चट्टी बुधौली नाली खाल बंचूरि मार्ग को एक दशक से भी ज्यादा का समय हो गया अभी तक डामरीकरण नहीं हो पाया कारण की क्षेत्र में जनप्रतिनिधि क्षेत्र की जनता को न देखकर केवल केवल पार्टी के लिए जीते हैं जिसका खामियाजा यमकेश्वर विधानसभा की जनता भुगत रही है जबकि उत्तराखंड नहीं पूरे हिंदुस्तान की आस्था का केंद्र नीलकंठ महादेव सिद्ध पीठ भी यही स्थित है उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच के प्रदेश महामंत्री डीएस गुसाईं ने बताया कि गरुड़ चट्टी से लेकर फूल चट्टी गट्टू गार्ड मोहन चट्टी बिजनी इस समय बेहतरीन पर्यटक केंद्र बना हुआ है यात्रा सीजन के समय सड़कों पर गाड़ियों की लंबी कतार लगी हुई रहती है क्योंकि जितने भी होटल रिसोर्ट उक्त क्षेत्र में बने हुए हैं उनकी अपनी कोई पार्किंग नहीं है इसलिए पर्यटक गाड़ियों की पार्किंग सड़क पर बनाए हुए हैं जिसमें की हर समय दुर्घटना होने का भय रहता है तथा स्थानीय लोगों को आवागमन में बहुत ही असुविधा होती है आपको बता दें जिलाधिकारी कैंप कार्यालय लक्ष्मण झूला में स्थित है वह केवल शोपीस मात्र बनकर रह गया जबकि पर्यटन की दृष्टि से जिलाधिकारी या उप जिलाधिकारी को माह में कम से कम हर 15 दिन बाद कार्यालय में बैठकर लोगों की समस्याओं का संज्ञान लेना चाहिए अभी सरकार द्वारा चारों धामों में श्राइन बोर्ड का गठन किया गया जबकि नीलकंठ महादेव वह पर्यटकों की भीड़ को देखते हुए स्थानीय लोगों द्वारा काफी लंबे समय से श्राइन बोर्ड की मांग की जा रही है लेकिन सरकार व जनप्रतिनिधियों के कान में जूं नहीं रेंग रहा है गुसाई ने बताया कि मैं सरकार का ध्यान यमकेश्वर विधानसभा की ओर दिलाना चाहता हूं कि जो लंबित मांगे हैं उन पर तत्काल प्रभाव से स्वीकृति और निर्माण शुरू कराया जाए ताकि स्थानीय लोगों को मुसीबतों का सामना न करना पड़े इधर राज्य सरकार द्वारा यहां की समस्याओं को मध्य नजर नहीं रखा गया तो उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी मंच आने वाले समय में जिलाधिकारी कैंप कार्यालय लक्ष्मण झूला में धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होगा जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी
Share To:

Post A Comment: