रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार 
9410563684

                               गोष्ठी में मुख्य अथिति सहकारिता विभाग की अपर निबन्धक ईरा उप्रेती ने बताया कि हरिद्वार में सहकारिता मेले के माध्यम से प्रतिदिन सहकारिता विभाग और अन्य  विभिन्न विभागो के अधिकारियों द्वारा गोष्ठी में कृषकों ओर ग्रामीणों को विभिन्न जानकारियां दी जा रही है यह एक सौभाग्य है कि कृषकों के साथ साथ महिलाओं को रोजगार् दिया जा रहा है जिससे वे सशक्त बन सके। वही उपनिबंधक मान सिंह सैनी ने बताया गोष्ठी में  डेयरी विकास विभाग से सबंधित एवं पशुपालन पोषण एवं बीमारियों का उपचार ओर महिला दुग्ध समितियों आदि विषयों पर किसानों एवं अधिकारियों एवं कर्मचारियों को डेयरी विकास विभाग उत्तराखण्ड से सम्बंधित जानकारी दी गयी।इस दौरान डेयरी विकास विभाग से दुग्ध निरीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि ग्रामीण स्तर पर महिला डेयरी विकास परियोजना अंतर्गत महिला दुग्ध समितियों के सदस्यों की कमेटी गठित कर दो दुधारू पशुओं का निशुल्क बीमा एवं डेयरी विकास विभाग के अंतर्गत राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम द्वारा दुधारू पशु इकाइयों हेतु 25% अनुदान पर रिंकी भी सुविधा उपलब्ध है इसके बावजूद समिति स्तर पर निशुल्क पशु चिकित्सा सेवा जिसमें आर्सेनिक पशु चिकित्सा सेवा और प्राथमिक पशु चिकित्सा सेवा,डिवर्मिंग पशु सेवा ओर पशु पोषण योजना अंतर्गत 50% अनुदान पर साइलेज की उपलब्धता एवं आंचल पशु आहार पर ₹2 प्रति किलोग्राम की दर से अनुदान भी दिया जाता है और ग्राम स्तर पर दुग्ध की गुणवत्ता के आधार पर दुग्ध मूल्य का भुगतान तथा प्रति लीटर दूध मूल्य प्रोत्साहन की भी योजना विभाग द्वारा चलाई जा रही है वही पशु चिकित्सक डॉक्टर पूनम बड़सीलिया ने बताया की किसानों को अपने पशुओं की देखभाल के लिए किस प्रकार जागरूक रहना चाहिए उनमें किसी भी प्रकार की बीमारी ना हो उसके लिए उनके आसपास साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें और अधिक दूध पाने के लिए पशुओं के तापमान पर भी ध्यान दें पशु स्वस्थ रहेंगे तभी किसानों को फायदा मिल पाएगा जिससे दुग्ध उत्पादन में भी वृद्धि होगी और साथ ही उनकी आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी।इस दौरान अपर जिला सहकारी अधिकारी अरविंद जोशी, बिजेंद्र राणा, सौरभ रवि, विनय सैनी ,रोहित कुमार ,विजयपाल सिंह , सतीश कुमार , मदनलाल, विजय सिंह, चरण सिंह , अरुण कुमार ,सुनील कुमार,मीनाक्षी , रश्मि, प्रीति, जयकुमार ,गोपाल सिंह ,कटार सिंह आदि मोजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: