रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार 
9410563684


                              आज एसएसपी हरिद्वार ने पर्दाफाश करते हुए सिविल लाइन कोतवाली में घटना का खुलासा किया। एसएसपी हरिद्वार सैंथिल अवुदई कृष्ण राज एस ने बताया के इन चोरियों के कारण आम जनता के मोबाइल/नेटवर्क सेवाएं आदि लंबे समय से बाधित चल रही थी। इस गिरोह को पकड़ने के लिए उनके निर्देश पर एक टीम का गठन किया गया था, सर्विलांस व मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि यह गिरोह विभिन्न राज्यों में टावर लगाने का काम करता है और हाल में जनपद बाड़मेर राजस्थान के थाना सेवड़ा में बीएसएनल का टावर लगा रहा है तथा बीच-बीच में टावरों में चोरी करने के लिए आते रहते हैं। सोमवार को मुखबिर की सूचना पर इस गिरोह के सदस्य दिलशाद पुत्र यामीन निवासी जानी बुजुर्ग थाना जानी जनपद मेरठ उत्तर प्रदेश व कमल सिंह पुत्र बाबूराम निवासी हुसैनपुर थाना पुरकाजी जनपद मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश, बोलेरे गाड़ी में चोरी की गई बैटरी को लेकर रुड़की/कलियर से मेरठके लिए आ रहा है। सूचना पर मंगलोर पुलिस टीम ने चेकिंग के दौरान देवबंद तिराहे के पास दोनों अभियुक्त गणों को मय बोलेरो गाड़ी व मोबाइल टावरों से चोरी की गई 22 बैट्रियों सहित गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि हम लोग कंपनियों के मोबाइल टावर लगाने का काम करते हैं। इस कारण हमें टावर के बारे में पूर्ण जानकारी है  बीच-बीच में वह साथियों के साथ मिलकर क्षेत्रों में बैटरियों को चोरी करते रहते है। पुलिस ने बताया कि उनके दो साथी फरार है, जिनके नाम साजिद पुत्र यामीन व हसीन पुत्र यामीन निवासी जानी बुजुर्ग थाना जानी जनपद मेरठ उत्तर प्रदेश है।
पुलिस टीम में लंढोरा चौकी इंचार्ज रणवीर सिंह चौहान, दरोगा कुलेन्द्र रावत, दरोगा पुष्पेंद्र सिंह, कॉन्स्टेबल इसरार, हसन अब्बास जैदी, सौरभ नौटियाल, प्रभाकर व सोहन मेहरा आदि मौजूद रहे।
Share To:

Post A Comment: