हर योजना से वंचित रह गए बेचारे गरीब पात्र सब गोल माल है भाई सब गोल माल ।

रमियाबेहड़ खीरी मौहम्मद सिराज । देश की आजादी के बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव जिस उद्देश्य से देश में कराए गए कि गांवों में सरकार द्वारा भेजी गई समस्त योजनाओं को अच्छे ढंग से जनता में प्रधान व सचिव मेहनत करके हर गरीब की कुटिया तक पहुंचाएंगे ठीक उसके विपरीत आज का प्रधान काम कर रहा है ।
कहा जाता है कि जब तक शिक्षा का अभाव देश में रहेगा तब तक सरकार चाहे लाख प्रयास करे लेकिन देश का विकास नही हो सकता है । एक कहावत है कि सब गोल माल है भाई सब गोल माल है । उसी कहावत को सच में दिखाने के लिए हम आपको ले चलते हैं लखीमपुर खीरी जनपद के विकासखण्ड रमियाबेहड़ की ग्राम पंचायत दरेरी की तरफ ।
जहां पर कागजों पर तो बहुत पहले ही शौचालय निर्माण पूर्ण रूप से हो गया । लेकिन जब निचले स्तर पर देखा गया तो पता चला कि अभी भी लोग बाहर शौच जाने के लिए मजबूर हैं । वाह रे प्रधानमंत्री जी का स्वच्छ भारत अभियान का सपना । हर काम मानक विहीन हुआ है । ग्राम पंचायत में लगी टंकी का कोई भी जिम्मेदार नहीं है । उसमें कभी पानी नहीं आता है । केवल शो पीस बनकर खड़ी है । आखिर कब तक ऐसा चलेगा । क्या लाखों का वेतन लेकर अधिकारी अपनी आंखों को इसी तरह बंद करे रहेंगे । गांव की साफ सफाई करने के लिए सरकार ने सफाईकर्मी रखा है लेकिन उसका चेहरा भी किसी ग्राम वासी ने अभी तक नही देखा है 
अब रह गई बात गांव के सौंदर्यीकरण की तो आप गांव में आइये और गांव के हर मोहल्ले में पहुंचकर देखिये तो हर घर के सामने नल के पानी के निकास का कोई उपचार न होने के कारण प्रत्येक व्यक्ति के यहां एक गड्ढा बना है।जिसमे कई बार नौनिहालों के गिरने की घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन अभी तक सही से इसका निस्तारण नही निकल पाया है।
गन्दे पानी के भराव के कारण लगातार बीमारियां बनी रहती हैं
आखिर कब तक यह मोटी रकम के बलबूते खेल चलेगा क्या इन भ्रष्ट प्रधानों की कोई सुध लेने वाला नही है।
न कहीं दवा छिड़काव न कहीं स्ट्रीट लाइट और कार्य योजना में दिखाया गया सब कुछ वाह रे प्रधान व सैकरेट्री का खेल ।
Share To:

Post A Comment: