मुराद नगर ।  सबसे बड़ी वजह यह भी है जहां देखो गुटबाजी हावी है यह भी एक मुख्य कारण है । 20 /25 वर्ष पार्टी का झण्डा लेकर चलने वालो को गुटबाजी के चलते नजरअंदाज कर दिया जाता है और दुसरे गुट का बता कर उत्पीड़न किया जाता है । इस और पार्टी को ध्यान केंद्रित करना चाहिए । नेता पटेल ने कहा कि कांग्रेस कहीं भी कमजोर नहीं है । उन्होंने कहा अगर गुटबाजी न हो मेरी बात हो सकती है किसी को बुरी लगे क्योंकि सच कड़वा होता है और सच कहने और सुनने की जरूरत है । दिल्ली के चुनाव के नतीजे बताते हैं कि जनता विकास चाहती है । क्योंकि मध्यम वर्ग आज महंगाई से  पूरी तरह त्रस्त है । अब आने वाले दिनो में कांग्रेस को चिंतन की जरूरत है । जिस पार्टी ने 15 साल पूरी मेहनत से  दिल्ली को संवारने में लगाए उसका फायदा नहीं मिल रहा है ।वजह सिर्फ गुटबाजी की है हम सारी ताकत एक दूसरे को नीचा दिखाने मे लगा देते है और कांग्रेस द्वारा किये गये कार्य को जनता तक नही पहुंचा पाते हैं । हार को लेकर दो चार दिन मंथन होता है और फिर वहीं के वहीं नजर आते हैं । जो पार्टी का संदेश जनता तक जाना चाहिए वो आपसी खींचातानी में खत्म हो जाता है । यह मेरी निजी राय है किसी पर कटाक्ष ना समझे ।
Share To:

Post A Comment: