दिल्ली हसन खान । कारी फिरोज आलम अपने साथियों के साथ शाहीन बाग पहुंचे और कुछ सामग्री भी पहुंचाई । शाहीन बाग प्रोटेस्ट करने वाली औरतों को अपना खिताब करते हुए कहा शाहीन बाग की औरतों ने हिंदुस्तान के अंदर वह इंकलाब लाइ है जिससे पूरे मुल्क में एक इंकलाब आया हुआ है । ताकि मुल्क में बाबा साहेब  डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का दिया हुआ संविधान बाकी रह सके । जिससे मुल्क का हर एक तबका हर मजहब के मानने वाले लोग अपने मजहब पर कायम रहते हुए अपनी जिंदगी को संवार सकें । क्योंकि बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का दिया हुआ संविधान यही सिखाता है । हिंदुस्तान में हर रहने वाला व्यक्ति हिंदुस्तानी हैं  यही चाहते थे डॉक्टर भीमराव अंबेडकर इसी लड़ाई को लड़ने के लिए शाहीन बाग की औरतों ने पूरे मुल्क में इंकलाब लाई हैं आज पूरे हिंदुस्तान में प्रोटेस्ट चल रहे हैं ताकि बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर का संविधान जिंदा रहे । आखिर में कहा है । शाहीन बाग की औरतों की तरफ से हमारी हिम्मत को सराहा हो हमारे साथ चलो... हमने एक शमा जलाई है अंधेरों के खिलाफ...
Share To:

Post A Comment: