सहारनपुर चौधरी इमरान अंसारी । सहारनपुर विकास प्राधिकरण के आलाधिकारी हालांकि पारदर्शितापूर्ण कार्य करने के दावे करते है, परन्तु पिछले काफी समय से आॅनलाईन मानचित्र जमा करने स्वीकृत एवं शमन करने का कार्य शास द्वारा निर्धारित किये गये सॉफ्वेयर के बंद होने से बिल्कुल ठप्प पडा है। सॉफ्टवेयर बंद होने की आड में सहारनपुर विकास प्राधिकरण के सहायक एवं अवर अभियंता समेत समस्त कर्मचारी अवैध निर्माणों को बढावा देकर अपनी जेबे गर्म करने में लगे हैं । सहारनपुर आर्किटैक्ट्स एण्ड इंजीनियर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंजी. जेएस बजाज ने सहारनपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष से लेकर अध्यक्ष तक को वर्तमान समय में मानचित्र जमा कराने@स्वीकृत करने एवं शमन करने के कार्य में सॉफ्टवेयर बंद होने के कारण आ रही कठिनाईयों के कारण कई बार मुखिक एवं लिखित रूप में जनहित में शिकायत दर्ज कराई परन्तु आज तक भी सविप्रा के आलाधिकारी जनहित की शिकायतों का कोई निस्तारण नही कर पाये है। उन्होंने कहा कि ऐसा इस वजह से किया जा रहा है कि सॉफ्टवेयर बंद होने की आड में सहारनपुर विकास प्राधिकरण के सहायक एवं अवर अभियंता अपने-अपने जोन के क्षेत्रों में भारी अवैध उगाही कर अनाधिकृत निर्माणों को बढावा दे रहे है। इससे एक ओर जहां सहारनपुर विकास प्राधिकरण क्षेत्र में आवासीय भवनों को तोडकर व्यवसायिक निर्माण किये जा रहे है वहीं संकरी गलियों में भी होटलों एवं ऐसे अवैध मार्किटों का निर्माण किया जा रहा है जिनमें पार्किंग की कोई व्यवस्था नही है। एसोसिएशन के अध्यक्ष इंजी. जेएस बजाज ने कहा कि जब तक नया सॉफ्टवेयर पूर्ण रूप से कार्य नही करता है तब तक पुरानी पदति के आधार पर मानचित्रों को जमा करने, स्वीकृत करने एवं शमन करने की व्यवस्था लागू की जाये। उन्होंने कहा कि सहारनपुर विकास प्राधिकरण में नये सॉफ्ट वेयर में मानचित्र अपलोड करने वाला कोई आॅपरेटर भी नही है। उन्होंने कहा कि पिछले हफते गाजियाबाद से सॉफ्ट वेयर को संचालित करने का परिक्षण देने के लिए कुछ कम्प्यूटर विशेषज्ञ आये थे परन्तु वह भी उक्त सॉफ्टवेयर को संचालित करने में सफल नही हो पाये है। उन्होंने कहा कि अगर शीघ्र ही नये सॉफ्टवेयर के संचालन होने तक मानचित्र जमा, स्वीकृती एवं शमन की व्यवस्था को लागू नही किया गया तो एसोसिएशन को कार्य बहिष्कार का निर्णय लेना पड़ेगा।

Share To:

Post A Comment: