Lockdown: सीएम योगी ने रातभर जागकर मुहैया कराईं 1000 बसें, फंसे हुए यात्री पहुंचेंगे घर उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी में रह रहे लोगों के साथ विभिन्न राज्यों में रह रहे यूपी के लोगों से अपील करते हुए कहा है कि ‘वे जहां हैं, वहीं रूके रहें, सरकार उनकी पूरी सुविधा का ध्यान वहीं रखेगी*

👉Lockdown: सीएम योगी ने रातभर जागकर मुहैया कराईं 1000 बसें, फंसे हुए यात्री पहुंचेंगे घर ।

लखनऊ. भारत में कोराना वायरस (Coronavirus) के लगातार बढ़ रहे खतरे को देखते हुए इन दिनों पूरा देश लॉकडाउन (Lockdown) कर दिया गया है. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शुक्रवार देर रात रातभर जागकर नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर, अलीगढ़, हापुड़ आदि इलाकों में 1000 से ज्यादा बसें लगाकर इनको गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था कराई. वहीं सीएम योगी ने तत्काल परिवहन विभाग के अधिकारी, ड्राइवर और कंडक्टरों को ड्यूटी पर बुलाने का निर्देश दिया.

लखनऊ के चारबाग से यात्रियों की सुविधा के लिये बस की व्यवस्था की गई है. ताकि हर कोई अपने गंतव्य तक पहुंच सके. कानपुर, बलिया, बनारस, गोरखपुर, आजमगढ़, फैजाबाद, बस्ती, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, अमेठी, रायबरेली, गोंडा, इटावा, बहराइच, श्रावस्ती ऐसे कई जिलों की बसें यात्रियों को बैठाकर भेजी गई हैं. वहीं डीजीपी और सीपी लोगों को खाने और पानी व्यवस्था भी कर रहे हैं.
उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी में रह रहे लोगों के साथ विभिन्न राज्यों में रह रहे यूपी के लोगों से अपील करते हुए कहा है कि ‘वे जहां हैं, वहीं रूके रहें, सरकार उनकी पूरी सुविधा का ध्यान वहीं रखेगी. उनके सामने कोई समस्या न आये इस पर सरकार का पूरा फोकस है. 21 दिनों का ये लॉकडाउन आपके और आपके परिवार के साथ पूरे समाज और देश के उत्तम स्वास्थ्य और सुरक्षित भविष्य के लिये अत्यंत आवश्यक है'. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 'मजदूर वर्ग से जुड़े लोग पैदल यात्रा न करें. आपके साथ बीमारी फ़ैल सकती है और आपके कारण और तमाम लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ सकता है. सरकार आपकी मदद के लिये पूरी तरह से संवेदनशील है'.
पूरे भारत में कोरोना से 19 लोगों की मौत
दुनिया में इस बीमारी से प्रभावित देशों में मरीजों की संख्या दिनोंदिन बढ़ रही है. ऐसे में भारत सरकार और स्वास्थ्य विभाग द्वारा बार-बार यह हिदायत दी जा रही है कि सोशल डिस्पेंसिंग के जरिए ही इस वायरस के संक्रमण को रोका जा सकता है. Covid19india.org वेबसाइट के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश मे अभी तक कुल 892 कोरोना के पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. इनमें से 76 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके है जबकि 19 लोगों की मौत हो चुकी है
Share To:

Post A Comment: