नई दिल्ली कलछीना टाईम्स । संसद मार्ग, जंतर मंतर पर एकत्रित होकर दिल्ली की ट्रेड यूनियनों के संयुक्त मंच ने जिसमें मुख्य रूप से इंटक, एटक,एचएमएस, सीटू,एआईयूटीयूसी,मजदूर एकता कमेटी, आई सी टी यू एवं अन्य यूनियनों के तत्वावधान में संदेश दिया कि दिल्ली का मजदूर, इस मजदूर- विरोधी, किसान विरोधी, जन विरोधी बजट का विरोध करता है और मजदूरों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया ।
इस अवसर पर राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक ) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अशोक सिंह ने मजदूरों को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन बीमा निगम में लोगों की जमा बचत 27 लाख करोड़ रुपये से भी ज्यादा है, जो देश की सबसे बड़े बैंक में जमा कुल राशि के बराबर है । बजट में निजीकरण और विनिवेश द्वारा अब तक का सबसे बड़ा 2,10, 000 करोड़ रुपये का, लक्ष्य अगले वर्ष के लिए निर्धारित किया है । उन्होंने कहा कि एयर इंडिया को और सस्ते शर्तों में बेचने की योजना बन गयी है इतना ही नहीं भारतीय रेल को टुकड़े- टुकड़े करके बेचने और लाभदायक रूटों पर प्राइवेट ट्रेन चलाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है । देश की सार्वजनिक संपत्तिया- रक्षा उतपादन, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, सार्वजनिक सड़क परिवहन, बंदरगाहों, कोयला, बिजली, इस्पात, पट्रोलियम आदि सब सूची में शामिल है ।
राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अशोक सिंह ने कहा कि मजदूरों का न्यूनतम वेतन प्रति माह इक्कीस हजार रुपये होना चाहिए जिससे हर एक मजदूर का परिवार सम्मान जनक जीवन जी सके ।
इस अवसर पर इंटक के ऋषि पाल सिंह, सुरेश शर्मा, अशोक कुमार सिंह, यशपाल सिंह, आशीष शर्मा सहित अन्य ट्रेड यूनियनों के पदाधिकारीगण व सैकड़ों की संख्या में मजदूर एवं मजदूर शामिल थे ।
Share To:

Post A Comment: