सोनभद्र । उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में रविवार को संदिग्ध कोरोना वायरस से पीड़ित एक ही परिवार के चार लोगों के मिलने से सनसनी फैल गई । घर के मुखिया ने खुद स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर पर काल कर अपनी व परिवार के सदस्यों की स्थिति बताई तो महकमें में खलबली मच गई । सीएमओ के नेतृत्व में पहुंची स्वास्थ्य टीम ने चारों लोगों के सैंपल इकट्ठा कर उसे जांच के लिए बीएचयू भेज दिया है । उन्हें रेणुसागर अस्पताल के आइसुलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है ।
रेणुसागर पावर प्लांट में बतौर कर्मचारी रविशंकर शर्मा (50) अपने परिवार के सभी सदस्यों के साथ बीते दिनों घूमने के लिए नेपाल गए थे । रविशंकर के अलावा उनकी पत्नी, पुत्र व बहू दो मार्च को नेपाल से रेणुसागर पहुंचे। वहां से लौटने के बाद सभी को खांसी, जुकाम की शिकायत बढ़ने लगी। रविशंकर की सांस भी फूलने लगी। उन्होंने रविवार को स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर पर फोन कर बिगड़े स्वास्थ्य के बारे में बताया। इतना जानने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हलचल तेज हो गई। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. शशिकांत उपाध्याय जिला मुख्यालय से एक स्वास्थ्य टीम लेकर रेणुसागर पहुंचे। चारों रोगियों को रेणुसागर स्थित अस्पताल के आइसुलेशन वार्ड में भर्ती कराने के बाद प्राथमिक उपचार शुरू कर दिया गया। सैंपल को रिजर्व करने के बाद उसे बीएचयू जांच के लिए भेजा गया है। जांच रिपोर्ट आने पर पुष्टि होगी कि कोरोनावायरस है या फिर नहीं लेकिन अभी तक इस मामले पर स्वास्थ्य विभाग के किसी भी अधिकारी द्वारा कोई बयान नहीं आया ।
रेणुसागर का एक परिवार बीते दिनों घूमने के लिए नेपाल गया था। यह परिवार दो मार्च को ही वापस लौटा है। खांसी, जुकाम व सांस फूलने पर उन्होंने कोरोना की संभावना व्यक्त की थी। रोगियों को आइसुलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही यह पुष्टि हो पाएगी कि कोरोना है या नहीं।
Share To:

Post A Comment: