रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684


15 अप्रैल को लॉकडाउन हटने के बाद भी जनता के उपर से सारी पाबंदिया नहीं हटाई जाएगी
घर से निकलने के दौरान, फेस पर मास्क लगाना जरूरी होगा
लॉकडाउन के बाद भी रखा जाएगा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान
सरकार पहले उन जिलों से लॉकडाउन हटाएगी जहाँ इस वायरस का प्रभाव कम है

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए भारत सरकार ने पूरे देश को 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया है. लॉकडाउन हो जाने की वजह से देश में जरूरती सुविधा को छोड़कर सभी बाज़ार, फैक्ट्रीयाँ, पब्लिक ट्रांसपोर्ट पूरी तरह से बंद है. ऐसे में केंद्र सरकार के साथ सभी राज्य सरकारों ने लॉकडाउन खोलने की तैयारी शुरू कर दी है. इसके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने अधिकारियों के साथ अपने आवास पर मीटिंग की थी. इस मीटिंग में इतना तो तय हो गया है की 15 अप्रैल को लॉकडाउन हटने के बाद भी जनता के उपर से सारी पाबंदिया नहीं हटाई जाएगी| बतादे, कुछ दिन पहले जब केंद्र सरकार से लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने के संदर्भ में सवाल किये गये थे तब कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने ये साफ़ कर दिया था की लॉकडाउन को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा| चलिए जानते है 15 अप्रैल के बाद की उत्तर प्रदेश की सरकार की तैयारियों के बारे में...

फेसमास्क लगाना होगा जरूरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है की लॉकडाउन खत्म होने के बाद, घर से निकलने के दौरान, फेस पर मास्क लगाना जरूरी होगा. इसके लिए उत्तर प्रदेश की सरकार ने 66 करोड़ फेसमास्क का आर्डर दिया है. ये फेसमास्क जनता को मुफ्त में बांटे जायेंगे. इन मास्क की खास बात यह है की इनको खादी के कपड़े से बनाया जाएगा जिसका मतलब है की इनको धो कर वापस काम में लिया जा सकता है|
Share To:

Post A Comment: