रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
 9410563684 



                    पूरी अर्थव्यवस्था ही बिगड़ गयी हैं पर इन परिस्थितियों में सबका एक दूसरे को मदद देना भी आपसी भाईचारे को दिखाता हैं। हर कोई अपने स्तर की मदद कर रहा है।
कोई जरूरतमन्दों के लिए भोजन की व्यवस्था कर रहा है तो कोई बीमारों की चिकित्सा का प्रबन्ध कर रहा है। ऐसे समय में छोटी छोटी मदद भी बहुत काम की है।
ऐसे ही कुछ उदाहरण आपको दिखाऊंगी।
आज बात करते हैं ऋषिकेश की सरोजनी थपलियाल की। जिन्होंने अपने घर के आस-पास की हर गली में खुद ही  ब्लीचिंग का बीड़ा उठा लिया।
सरोजनी  एक शिक्षिका,समाजसेवी और राज्यान्दोलनकारी भी हैं।शायद ही ऋषिकेश में कोई  होंगा जो उनको नही जानता होंगा।
Share To:

Post A Comment: