कोरोनावायरस जैसी महामारी को लेकर जहां पूरी दुनिया बचाव के तरीके ढूंढ रही है और इस जानलेवा बीमारी से बचाव को लेकर हर देश अपने अपने तरीके से शोध कर इस भयानक महामारी से निपटने के लिए बचाव के लिए दवा के ईजाद और वचाव के प्रचार प्रसार को जन जन तक पहुंचाने में सरकार पूरी मुस्तैदी से लगी है । इसी क्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आशा बहू भी बाहर से आए लोगों और उनके स्वास्थ्य के बारे जानकारी इकट्ठा कर रही है ।
इसी क्रम एक आशा बहु जानकारी लेने बलिया बांसडीह के गांव केवरा पूरा पहुंचीं । आशा बहु मनोरमा देवी ने गांव में पूना से आए कुछ लोगों का नाम लिख लिया । इसी बात से नाराज़ कुछ लोग आशा बहु मनोरंमा देवी को गाली देने लगे तभी सहयोग के लिए साथ में मनोरमा देवी अपने बेटे अनुराग कुशवाहा साथ ले आई थी । गाली को सूनकर अनुराग ने आपत्ति जताई और कहा कि यह कोई अपना नहीं सरकार का काम कर रही है और आप गाली दे रहे हैं आप ऐसा नहीं करें और वहां से चल दिए ।
वहीं रास्ते घात लगा कर मनोरमा देवी के बेटे को हमला कर के बुरी तरह घायल कर दिया ।
आशा बहु मनोरमा देवी घायल बेटे को लेकर नजदीक के सरकारी अस्पताल अपने बेटे को लेकर पहुंची और सारी घटना डा०एस के तिवारी  से बताई । घटना की जानकारी मिलने के बाद डा० तिवारी ने सम्बंधित अधिकारियों को इसकी जानकारी दी ।
पीडित के अनुसार इस घटना के की तहरीर सम्बन्धित थाने को दी जा चुकि है । गांव के प्रधान ने भी  इस घटना की पुष्टि की है ।
Share To:

Post A Comment: