रिपोर्ट उत्तराखंड प्रभारी जावेद अंसारी



देशभर में कोरोना वायरस के संभावित खतरे को लेकर सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए लॉक डाउन के बाद गरीब तबके व दिहाड़ी, मजदूरो को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। सभी कार्य बंद होने के कारण इन लोगों के सामने रोजी रोटी का बड़ा संकट है। गरीब तबके व दिहाड़ी, मजदूरों को कोई समस्या न हो, इसके लिए सरकार अपने तरीके से राशन उपलब्ध करा रही हैं। तो वही सामाजिक संस्थााएं भी पीछे नहीं है। संस्थाएं लॉक डाउन में गरीब लोगों का पूर्ण रूप से सहयोग कर रही हैं और जरूरतमंदों को अपने स्तर से भोजन की सुविधा भी उपलब्ध करा रही है। ऐसी ही एक हेल्पिंग हैंड्स संस्था गरीब, मजदूरों के लिए मसीहा बनी हुई है। जो आए दिन गरीब मजदूर लोगों को चिन्हित कर भोजन बांट रही है। हेल्पिंग हैंड्स के संस्थापक अमित जांगिड़ गरीब मजदूर असहाय लोगों की मदद करना अपना धर्म मानते हैं। जो लगातार लॉ डाउन में गरीबों में खाना वितरित करवा रहे हैं। संस्थापक अमित जांगिड़ ने बताया कि आज संस्था की टीम ने बेरियर न.6, न्यू शिवालिक नगर स्लम बस्ती, सेक्टर 5 मजदूर बस्ती, विष्णुलोक कॉलोनी बेरियर 5,नवोदय नगर चौक पर जरूरतमंदों को प्रशासन की मौजूदगी में खाना बांटा है। खाने बांंटते समय स्वच्छता और सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष  ख्याल रखा जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस विश्वव्यापी संकट में केवल सरकारों के बूते लोगों को राहत पहुंचाया जाना संभव नहीं है। प्रदेश में तमाम धार्मिक व सामाजिक संस्थाएं सहयोग के लिए आगे आई हैं। और लगातार जरूरतमंदों में खाना वितरित कर रही है और हमारा भी यही उद्देश्य है कि लॉक डाउन में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। जिसके लिए टीम रात दिन मेहनत कर अपनेे कर्तव्य को भली-भांति निभा रही हैं। उन्होंनेे बताया कि भोजन वितरण में भेल से पी. के.बंसल, निखिल, अजीत भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। पुण्य कार्य में पंकज त्यागी, अभिनव, त्रिलोक, पंकज जैनर, हरवीर बढ़ाना, रवि कश्यप, पीयूष धीमान, अखिल आदि संस्था के लोगों ने अपना भरपूर सहयोग दिया है।
Share To:

Post A Comment: