जावेद अंसारी ब्यरो चीफ उत्तराखंड

वैश्विक संकट कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन के चलते पिछले तीन महीनों से विद्यालय बंद होने के कारण वित्तविहीन शिक्षकों को वेतन ना मिलने से आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व जिला उपाध्यक्ष डॉ. नीरज कौशिक ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को पत्र लिखकर वित्तविहीन शिक्षकों के लिए आर्थिक पैकेज दिए जाने की मांग की। डॉ. नीरज कौशिक ने बताया कि प्रदेश में तीन लाख से अधिक वित्तविहीन शिक्षकों पर कोरोना संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन के चलते आए आर्थिक संकट के कारण परिवार को चलाना मुश्किल हो गया है क्योंकि लाॅकडाउन के चलते सभी माध्यमिक विद्यालय बंद कर दिए गए हैं जिसके चलते शिक्षकों को वेतन नहीं मिल रहा है। डॉ नीरज कौशिक ने बताया कि वित्तविहीन शिक्षकों को जो वेतन-भत्ता दिया जाता है वह माध्यमिक विद्यालय की प्रबंध समिति द्वारा दिया जाता है इन विद्यालयो के पास इतना बजट नहीं होता कि वह वित्तविहीन शिक्षकों के वेतन का भार उठा सके। इस लिए राज्य सरकार को उनके विषय में भी सोचते हुए कुछ ना कुछ राहत पैकेज इन शिक्षकों दिया जाना चाहिए जिससे वित्तविहीन शिक्षकों के घर परिवार पर आये रोजी-रोटी के संकट को टाला जा सके।वित्तविहीन शिक्षक व कर्मचारी अपने परिवारजनों के साथ सम्मानजनक जीवन जी सके।
Share To:

Post A Comment: