एक सुप्रीम कोर्ट के वकील व 6 रसोई निशुल्क भोजन वितरण के संचालन में सहयोगी , पुलिस निशुल्क भोजन से लाभान्वित

Sho देव पाल सिंह पुंडीर थाने में 2 घंटे बिठाते हैं राजनीतिक व कालाबाजारी करने वाले लोगों के दबाव मिलने तक नहीं आते, संगीन धाराओं के मामले में अरदली से रेस्ट रूम से ही दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक मौखिक आदेश दिए जाते रहे , दरोगा जी तहरीर पढ़कर चले गए, अर्दली कभी चौकी इंचार्ज को बुलाने व जांच करने का नाटक करते रहे, sho का संदेश देते रहे कि आप लोग घटना स्थल पर पहुंचे मै और चौकी इंचार्ज अा रहे हैं !

 एफआईआर या एनसीआर तक दर्ज नहीं होती , धारा 151 की कारवाही नहीं होती , एफबी ऑनलाइन वीडियो जैसा साक्ष्य प्रस्तुत किया जाता है।

 कौन से कानून की पढ़ाई या ट्रेनिंग ली है माननीय देव पाल सिंह पुंडीर थाना प्रभारी मोदीनगर ने किसकी शपथ ली थी पुलिस सिस्टम में, किस अधिकारी ने शपथ कराई या ट्रेनिंग दी।

पूर्व शासकीय अधिवक्ता श्री प्रमोद तंवर, घटना के चश्मदीद गवाह, ऑनलाइन एफबी वीडियो।

 फर्जी क्रॉस रिपोर्ट का दबाव बनाने के लिए पूरा समय, दलाल पत्रकार का सहयोग।

सांप को दूध पिलाने जैसा पुलिसिया व्यवहार।

बिना सोचे समझे हिमायतियों का जामा वाडा, सब कुछ क्या साबित कर रहा था, फिर माफी मंगवाकर मामला रफा दफा करवाना ।

गला काटने की दबंग की धमकी को अनदेखा करना और घटना की पुनरावृत्ति ना हो, फर्जी मुकदमा ना हो और बचाव क्या ? ये सब भ्रष्ट सिस्टम में एक सुप्रीम कोर्ट का वकील सोचने के लिए मजबूर? तो बाकी गरीब, किसान, मजदूर, बेसहारा की सुनवाई कैसे होती होगी ?

 Sho मोदीनगर या अन्य उच्चाधिकारी अधिकारी के जवाब की प्रतीक्षा ताकि कानून पर आम जन का भरोसा कायम रह सके!

भवदीय

लोकेंद्र आर्य, एडवोकेट
 आर्य समाज रसोई स्वयंसेवक व सचिव, शहीद भगत सिंह समाज कल्याण ट्रस्ट
7983171016
9868018790
Share To:

Post A Comment: