गाजियाबाद!एडवोकेट मारुफ अली मसूरी(समाजसेवी)ने देश के मुसलमानो से अपील की कि ईद की नमाज़ अपने घरो पर ही अदा करे क्योकि यह सावधानी और समझदारी से काम लैने का वक्त है!
 हमें मिलकर कोरोना महामारी को खत्म करना है और मास्क लगाये बिना घरो से न निकले  एक दूसरे से उचित दूरी बनाये रखे प्रसाशन द्वारा बताये गये निर्देशो का पालन करे हमारे उलेमाओं ने जो ईद की नमाज पढने का तरीका बताया है कि ईद की नमाज  के लिए घर के चार आदमीयों में से एक इमाम बन जाए। नमाज अदा हो जाएगी और सवाब भी कम नहीं होगा। और मस्जिदों में भी जिस तरह लाॕकडाउन मे पाँच आदमियो के नमाज पढने की इजाजत थी उसी तरह मस्जिदों मे नमाज अदा करे बे वजह भीड इकट्ठा ना करे
समाजसेवी मारुफ अली ने सभी मुस्लिमों से गुजारिश की है कि ईद वाले दिन अपने घरों से ना निकले और किसी से हाथ न मिलाएं और गले ना मिले। एक दुसरे के घरों में जाने से बचें। बल्कि ईद की मुरकबाद फोन पर ही दे अपने मुल्क और पूरी दुनिया  के लिए अल्लाह से रो रो कर  दुआ करें इस बार ईद की खुशिया न मना कर अपने आसपास के गरीबों की मदद करें। इस वक़्त हम कोरोना जैसी बड़ी बीमारी से जूझ रहे हैं हम सब को मिलकर इस बीमारी से लड़ना होगा अगर हम समाजिक दूरी बनाने में कामयाब हो गए तो हम जल्द ही इससे निजात पाने मे कामयाब होंगे! अल्लाह हम सबकी हिफाजत करे  एडवोकेट मारुफ अली           
      समाजसेवी

तरीकत चौधरी
Share To:

Post A Comment: