रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684




             जहां उन्हें बड़े पैमाने पर खामियां मिली। इस दौरान उन्होंने रूडकी जेलर को भी जमकर फटकार लगाई।
गौरतलब है कि 21 जून को जेल के अंदर का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमे बंदी जेल प्रशासन पर मारपीट और नशे के इंजेक्शन देने के गंभीर आरोप लगाते दिखाई दे रहे थे। इतना ही नहीं जेल प्रशासन के खिलाफ भी बंदियों ने मुर्दाबाद के नारे लगाए थे, जिसमें कुख्यात चीनू पंडित के साथ-साथ अन्य बंदी भी वीडियो में नज़र आ रहे हैं।
आई जी जेल के मीडिया में सुर्खियों में आने के बाद ज़िलाधिकारी ने आनन फानन में पूरे मामले की जांच ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल को सौंप दी थी, जिसके चलते जेल अधीक्षक की जांच में बंदियों के बीच मारपीट का होना नहीं पाया गया था। वीडियो वायरल के बाद देर शाम आईजी जेल डॉ. पीवीके प्रसाद अचानक रूडकी जेल में पहुंच गए। जहां उन्होंने खामियां मिलने पर जेलर को भी जमकर फटकार लगाई। वहीं जेल की सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों और कुछ बंदियों के भी उन्होंने बयान दर्ज किए। इतना ही नहीं आईजी जेल ने जेल परिसर का बारीकी से मुआयना किया। इस दौरान आईजी जेल पीवीके प्रसाद ने बताया कि जेल में दो बंदियों के गुटों का विवाद था जिसकी जांच की जा रही है। जेल में बंद चीनू पंडित को जल्द ही दूसरी जेल में शिफ़्ट किया जाएगा।
हालांकि रूडकी जेल के बाद जेल आई जी हरिद्वार जेल का निरीक्षण करने भी पहुंचे। दरअसल रूडकी जेल के बंदियों का वीडियो वायरल होने के बाद जेल प्रशासन में लगातार हड़कंप मचा हुआ था जिसमें आई जी जेल के आने की संभावनाएं बढ़ गईं थीं ।
Share To:

Post A Comment: