रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
 9410563684



                                       ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधियों ने कहा कि राष्ट्रीय एकता और अखण्डता के दुश्मन , साम्प्रदायिक सौहार्द्र के विरोधी आतंकी तत्वों ने कश्मीर के जिला अनंतनाग की पंचायत लकबावन के सरपंच श्री अजय पण्डिता की नृशंस हत्या कर दी थी। इस घटना को लेकर पूरे देश के ब्राह्मण समाज में बेहद आक्रोश है। अत्यंत खेद का विषय है कि अभी तक हत्यारों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। यह हृदय विदारक घटना देशद्रोही एवं आतंकी तत्वों द्वारा कश्मीर घाटी में हिंदुओं को भयभीत करने का षड्यंत्र है । कश्मीर घाटी में हिंदुओं का जीवन पूरी तरह असुरक्षित है । 1990 में भी पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के ताण्डव के कारण लाखों कश्मीरी पंडितों को अपने घर-बार, कारोबार, खेत-खलिहान और बागान छोड़कर दिल्ली, चंडीगढ़, अमृतसर आदि शहरों में दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर होना पड़ा था। इन विस्थापित कश्मीरी पंडितों की पीड़ा और वेदना असहनीय है ।
उन्होंने प्रधानमंत्री जी से निवेदन किया कि समाजसेवी और निर्भीक सरपंच श्री अजय पण्डिता के हत्यारों की तुरन्त गिरफ्तारी कर उनके विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। कश्मीर घाटी में अल्पसंख्यक हिंदुओं के जीवन की सुरक्षा के पूर्ण प्रबन्ध किये जायें । विस्थापित लाखों कश्मीरी पंडितों के रोजगार और पुनर्वास की स्थायी व्यवस्था की जाए । इस अवसर पर सुरेश चंद्र शर्मा, अध्यक्ष, भारतीय ब्राह्मण समाज, रामानन्द शर्मा, अध्यक्ष, जनपदीय ब्राह्मण सभा, डी पी शर्मा, महामंत्री,  विधायक प्रतिनिधि सतीश शर्मा, जे पी शर्मा, विशाल शर्मा, ऋषिपाल शर्मा, विशाल शर्मा, अरुण शर्मा, अध्यापक अरुण शर्मा, दिनेश शर्मा, सुधीर शांडिल्य,  विश्व प्रकाश बिल्लू, रामकुमार शर्मा, सौरभ कौशिक, एडवोकेट अरविंद गौतम, सुमित कुमार भारद्वाज आदि सदस्य उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment: