लोनी । लोनी विधानसभा में भाजपा नेता मनोज धामा की लोकप्रियता दिनोदिन बढ़ती जा रही हैं । चाहे लोक डाउन में गरीब जनता की सहायता की बात हो या लोनी क्षेत्र में विकास कराने की , जनता अब ये समझ चुकी हैं विरोधी केवल दिन प्रतिदिन मनोज धामा की छवि को खराब करने के लिए ही उनपर निराधार आरोप लगा रहे हैं । अभी हाल ही में कई महिलाओ द्वारा इसका पुख्ता प्रमाण भी दिया गया था कि किस तरह मनोज धामा पर झूठा आरोप लगाने के लिए उनकी भूखे पेट का सौदा एक कथित किसान नेता और उसके कुछ अन्य साथियो द्वारा किया गया था । राजनीति में मनोज धामा के बढ़ते कद का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता हैं कि लोनी की राजनीति नाम की एक फेसबुक आईडी द्वारा लोनी क्षेत्र के पूर्व एवं वर्तमान जनप्रतिनिधियों के नाम पर एक एक्जिट पोल बनाया गया था । जिसमे लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर , पूर्व विधायक मदन भैया , पूर्व विधायक जाकिर अली , लोनी नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन मनोज धामा एवं अन्य चेहरे का विकल्प था । और इस पोल पर वोट करके लोनी के अगले विधायक को चुनने का विकल्प लोगों को एक माह के लिए दिया गया था यानी कि 30 दिन तक उस पोल पर वोट करके लोग अपना मनपसंद विधायक (पोल के मुताबिक ) चुन सकते थे । लेकिन उस पोल पर केवल 22 घंटे में ही मनोज धामा ने अन्य प्रतिद्वंदीयों को पछाड़ते हुए सबसे अधिक 424 वोट प्राप्त किए , जबकि दूसरे नंबर पर लोनी के वर्तमान विधायक नंदकिशोर गुर्जर 397 वोट मिले वहीं 194 वोट के साथ पूर्व विधायक जाकिर अली चौथे नंबर पर पूर्व विधायक मदन भैया 177 वोट पर और अन्य चेहरे को 111 मत प्राप्त हुए 
इसी प्रकार  टोटल वोट 1303 हुए । जब मनोज धामा कि बढ़त की बात विपक्षियों को पता चली तो उन्होने तुरंत ही पुलिस कार्रवाई की धमकी देकर  30 दिन के पोल को एक ही दिन में बंद करा दिया । लेकिन पोल का रिजल्ट चाहे कुछ भी मनोज धामा हमेशा ही जनता के दिलों में राज करने वाले जनप्रतिनिधि रहे हैं और उन्होने हर मोड़ पर यह साबित किया है़ ।
Share To:

Post A Comment: