रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684



                   सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुँची और शव का पंचनामा भरकर उसे पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भिजवाया। वहीं नगरपालिका की लापरवाही से अन्य सफाई कर्मियों में भी रोष पनप रहा है।
बताया गया है कि नगर पालिका में एक सफाई कर्मी रोजाना की भांति बृहस्पतिवार को कीटनाशक दवाई का वार्डों में छिड़काव कर रहा था। छिड़काव के दौरान यह दवाई कर्मी के मुंह तक पहुंच गई ओर वह बेहोश हो गया। आनन-फानन में कर्मी को अस्पताल रुड़की लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना से क्षेत्र में शोक की लहर दौड गयी। साथ ही सफाई कर्मियों ने भी नगरपालिका प्रशासन पर कर्मियों का उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पालिका अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आज उक्त कर्मी ने अपनी जान देकर भुगता। सफाई कर्मियों का कहना है कि उन्हें कोरोना संकटकाल में भी सुविधाओं से महरूम रखा जा रहा है, न ही उनके पास मास्क, गलब्ज व शूज है ओर न ही सिर पर बांधने का कोई कपड़ा हैं। ऐसे में कह ऐसी जहरीली दवाई को बिना सुरक्षा के ही छिड़कने के लिए विवश है।
Share To:

Post A Comment: