रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार
9410563684   


        ओंकारानंद पब्लिक स्कूल के प्रबंधक कमेटी के द्वारा विद्यालय में अध्ययनरत कक्षा 9 तथा कक्षा ग्यारहवीं के बच्चों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। प्रबंध कमेटी तथा स्कूल प्रशासन को बच्चों के अभिभावकों द्वारा कई बार नम्र निवेदन करने के बावजूद भी प्रबंध कमेटी व स्कूल प्रशासन द्वारा बात नहीं सुनी जा रही है ,जिसकी मैं घोर निंदा करता हूं।
 गुसाई ने कहा कि शासन द्वारा दिनांक 14  अप्रैल 2020 मीनाक्षी सुंदरम सचिव उत्तराखंड शासन द्वारा विद्यालयों के लिए दिशा निर्देश है कि जिन विद्यालयों में परीक्षा हो चुकी हूं या नहीं हुई हूं विद्यालय के बच्चों को अगली कक्षा में प्रवेश दिया चाहे वह अनुत्तीर्ण भी  हो। उनको भी एकदम साफ सुथरी गाइडलाइन दे रखी है। दिनांक 2 मई 2020 को खंड शिक्षा अधिकारी नरेंद्र नगर द्वारा ओंकारानंद स्कूल को इस संबंध में आदेश दिए गए 22 मई 2020 को माननीय मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी धीरेंद्र सिंह पवार द्वारा जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल को संबोधित पत्र में प्रबंध कमेटी के कारनामों की जांच संबंधी पत्र भी भेजा गया ,बावजूद इसके प्रबंध कमेटी कक्षा 9 व कक्षा 11 के बच्चों के साथ खिलवाड़ कर रही है।  प्रबंध कमेटी द्वारा अभिभावकों को सकारात्मक जवाब न देना भी संदेहप्रद है ।बता दें कि उत्तराखंड  में आईसीसीआई बोर्ड द्वारा संचालित अन्य स्कूलों में भी बच्चों को अगली कक्षा में प्रवेश दिया गया केवल ओंकार आनंद पब्लिक स्कूल के प्रबंध कमेटी द्वारा बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
 गुसाई ने बताया कि ऐसी स्थिति में किसी बच्चे के द्वारा कोई अनहोनी हो गई तो संपूर्ण जिम्मेदारी प्रबंध कमेटी व स्कूल प्रशासन की होगी । गुसाई ने बताया कि उनके द्वारा भी प्रबंधक कमेटी व स्कूल प्रशासन के साथ बैठक की गई जिसमें यह लोग सकारात्मक जवाब नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि बच्चों के साथ न्याय नहीं किया जाता है तो राज्य आंदोलनकारी मंच प्रबंध कमेटी के खिलाफ जन आंदोलन करेगा तथा ओंकार आनंद पब्लिक स्कूल की जांच करवाएगा जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी ओंकार आनंद पब्लिक स्कूल प्रबंधक कमेटी व  स्कूल प्रशासन की होगी।
Share To:

Post A Comment: