रिपोर्ट ब्रह्मानंद चौधरी ब्यूरो चीफ हरिद्वार  
  9410563684                                 


  जिसमें अभिभावकों अपनी-अपनी समस्याओं को विस्तारपूर्वक रखा जिसमें आजकल की मुख्य समस्या जो स्कूल प्रबंधन व अभिभावकों के मध्य ज्यादा प्रचलित हो रही है, वो है लाॅकडाउन के दौरान ऑनलाइन पढाई जो कि वाहटसप के माध्यम से हो रही है और स्कूल विगत वर्ष के छात्र छात्राओं की नोटबुक से फोटो खींच खींच कर बच्चों को ग्रूप मे भेजने का कार्य कर रहा है जो कि बच्चों की समझ से बाहर है । इस तरीके से स्कूल ऑनलाइन पढ़ाई कराने के एवज में अभिभावकों को तीन माह की फीस जमा करने का मैसेज बार बार कर दबाव बना रहा है।
वाहटसप की इस पढ़ाई से सभी अभिभावक असंतुष्ट दिखे तथा विद्यालय को इस बात की सूचना देने पर भी इस समस्या का कोई समाधान नहीं किया गया स्कूल प्रबंधन फीस का मैसेज लगातार देते हैं जैसे कि आप सब सभी सम्मानित अभिभावक को अवगत होगा कि माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार जो भी अभिभावक ऑनलाइन की पढ़ाई से संतुष्ट नहीं हैं, उन पर स्कूल प्रबंधन फीस देने के लिए किसी भी प्रकार का दबाव नहीं बना सकता है ।
सभी अभिभावकों का एक मत है कि जो माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार यदि हम ऑनलाइन पढाई से संतुष्ट नहीं हैं तो हम तीन माह की फीस नही देगे जब तक ऑनलाइन के सही माध्यम के द्वारा पढाई नही कराई जाती तब तक कोई अभिभावक किसी प्रकार की फीस नही देंगे और जब से ऑनलाइन के सही माध्यम से पढाई होगी तब से ही अभिभावक फीस जमा करेंगे ।
आज की मीटिंग में वरिष्ठ समाजसेवी और पीस ऑफ इंडिया परिवार के राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रभारी उत्तराखंड उत्तर प्रदेश ,योगेश राघव  का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ सभी अभिभावकों ने उनकी बातो मे अपनी सहमति वयक्त की और आने वाले समय में भी हम सभी अभिभावक योगेश राघव के नेतृत्व में एक साथ मिलकर इस समस्या से लडेगे । योगेश राघव ने सभी सम्मानित अभिभावकों से आव्हान किया है कि वह सभी इस मुद्दे पर एकजुट होकर उनका साथ दे ताकि स्कूल प्रशासन पर उचित से उचित कार्रवाई हो सके ।मीटिंग में उपस्थित अभिभावकों के नाम इस प्रकार से है,  लक्ष्मी रावत, प्रताप सिंह, मीनू शुक्ला, ममता पंवार,  मनीषा, नरेश उनियाल, रजनी नेगी, ममता पंवार, रंजनी सजवाण, सुनील नेगी, सुरेन्द्र भंडारी, शिल्पा श्रीवास्तव, रूपा उनियाल आदि अभिभावक शामिल  थे ।

Share To:

Post A Comment: